Dhirendra Shastri Suhani Shah

इस वक्त चारों तरफ बागेश्वर धाम सरकार (Bageshwar Dham) के धीरेंद्र शास्त्री (Dhirendra Shastri) की चर्चाएं जोरों पर हैं. कोई उन्हें पाखंडी कह रहा है तो कोई उनके समर्थन में कसीदे गढ़ रहा है. कुल मिलाकर जिस तरह से बाबा सोशल मीडिया से लेकर मीडिया तक में छाए उतनी ही तेजी से उनके चमत्कारों पर काउंटर अटैक भी हुए. लिहाजा जो उम्मीद बाबा को रही होगी वह पूरी नहीं हुई और बाबा द्वारा दिखाए जा रहे तथाकथित चमत्कार उस रूप में मीडिया के माध्यम से नहीं फैल पाए जिस रूप में उन्होंने उम्मीद की थी.

मनोविज्ञान अद्भुत विज्ञान है. बॉडी लैंग्वेज, एक्सप्रेशन के अलावा माइक्रो ऑब्जरवेशन दिल की बात भी जान लेता है. यह साइंस है, ट्रिक है, कला है. इसे कुछ भी कह लीजिए. एक खास शिक्षा, अभ्यास और स्टडी की साधना के बाद ऐसे कारनामे कोई भी दिखा सकता है. धर्म का आवरण चढ़ा कर ऐसे कारनामों को ही बाबा, महात्मा, मौलाना पेश करते हैं. दिल की धड़कनों और सांसो के वाइब्रेशन से एक्सप्रेशन और बॉडी लैंग्वेज तय होती है और आपके मन की बातें जानी जा सकती हैं.

इस विज्ञान का ज्ञाता बनने के लिए साधना करनी पड़ती है. इंसान के मन को पढ़ने की साधना, एक्सप्रेशन और बॉडी लैंग्वेज की रीडिंग पर आधारित होती है. सुहानी नाम की एक लड़की ऐसे मनोविज्ञान या फेस रीडिंग में दक्ष है और इस वक्त मीडिया में उसके चर्चे भी है और इसी सुहानी शाह (Suhani Shah) ने बाबा के सपनों पर पानी फेर दिया है या यूं कहें कि उनके भक्तों के सपनों पर पानी फेर दिया है.

सुहानी (Suhani Shah) लोगों के मन को पढ़ने का चमत्कार दिखा रही है. वह इस मनोविज्ञान या चमत्कार को कला कहती है. ऐसी कला में दक्ष बाबा, स्वामी, तांत्रिक, मौलाना या ईसाई धर्मगुरु लाखों-करोड़ों का दिल जीत लेते हैं. उनके दर्शन करने, उन्हें सुनने और उनके चमत्कार देखने हजारों लोग आते हैं. इस तरह बाबा लोग धन और यश की प्राप्ति करते हैं. यह अलग-अलग धर्मों का चोला पहनकर धर्म की दुकानें चलाते हैं.

जबकि यह पाखंडी सुहानी की तरह अपनी मनोविज्ञान या कला साधना का प्रदर्शन करके भी धन और यश हासिल कर सकते हैं. जबकि कोई धर्म किसी आभामंडल, कला-साहित्य, विज्ञान, चमत्कार से परे है. हर धर्म अपने शाब्दिक अर्थ में ही मौजूद है. धर्म मतलब ”इंसानियत का फर्ज”. यदि आप मानवता का कर्तव्य निभा रहे हैं तो समझ लीजिए कि आप अपने धर्म पर चल रहे हैं और आस्तिक हैं. मानवता का फर्ज नहीं निभा रहे हैं तो आप खुद को अधर्मी या नास्तिक मानिए.

सुहानी नाम की लड़की को इस वक्त बाबा (Dhirendra Shastri) के काउंटर में पूरा देश देख रहा है वह फेश रीड करके उसके मन की बात बता रही है. उसके मन में क्या सवाल है, वह क्या सोच रहा है, क्या पूछने वाला है, किसके बारे में सोच रहा है सब कुछ सुहानी बता रही है और वह इसे कोई चमत्कार नहीं कह रही है. वह इसे सिर्फ और सिर्फ एक बता रही है.

वहीं दूसरी तरफ बागेश्वर धाम सरकार के धीरेंद्र शास्त्री (Dhirendra Shastri) सोशल मीडिया पर और मीडिया में छाए हुए हैं, उसके पीछे उनके द्वारा लिखी जा रही पर्ची यों को वजह बताया जा रहा है. वह किसी के बारे में बिना उससे पूछे जो कुछ भी बता रहे हैं उसे उनके समर्थक और भक्त चमत्कार की तरह ले रहे हैं. बस यही से तार्किक बातें करने वालों ने उनका विरोध चालू कर दिया और उनसे सवाल-जवाब होने लगे और उनके समर्थकों को सवाल करने वाले खटकने लगे.

धीरेंद्र शास्त्री जो कुछ भी तथाकथित चमत्कार दिखा रहे हैं वह धर्म का चोला ओढ़ कर दिखा रहे हैं और यह किसी से छुपा नहीं है कि इस वक्त धार्मिक आधार पर देश में क्या स्थिति बनी हुई है. धीरेंद्र शास्त्री से सवाल करने वालों को हिंदू धर्म का विरोधी तक बताया जा रहा है. धीरेंद्र शास्त्री जो कुछ भी कर रहे हैं उसको लेकर उनका विरोध करने और उन्हें पाखंडी कहने वाले तर्क दे रहे हैं कि धर्म चमत्कार दिखाकर चढ़ावा इकट्ठा कर रहा हो, ढोंग को बढ़ावा दे रहा हो, नफरतें और दूरियां पैदा कर रहा हो तो समझ लीजिए यह धर्म नहीं अधर्म है.

इससे पहले धीरेंद्र शास्त्री बीजेपी की राज्य सरकारों द्वारा चलाई जा रही बुलडोजर नीति की भी प्रशंसा कर चुके हैं और सभी को अपने घरों में बुलडोजर रखने की भी सलाह दे चुके हैं. अभी पिछले दिनों उन्होंने भारत को हिंदू राष्ट्र बनाए जाने की भी मांग की थी और यह इस देश में एक राजनीतिक पार्टी की विचारधारा की भी मांग रही है. इस कारण भी धीरेंद्र शास्त्री जो कुछ भी कर रहे हैं और कह रहे हैं उसका विरोध हो रहा है. क्योंकि वह धर्म का चोला ओढ़कर जो कुछ कर रहे हैं उसके साथ साथ राजनीतिक बातों को भी हवा दे रहे हैं.

कुल मिलाकर धीरेंद्र शास्त्री के समर्थक और भक्त जिस तरह उनके द्वारा बताई जा रही बातों को चमत्कार बता रहे थे सुहानी ने उस पर एकदम से पानी फेर दिया है. हालांकि अभी भी धीरेंद्र शास्त्री मीडिया में बने हुए हैं और उनके समर्थक सोशल मीडिया पर उनको ट्रेंड कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here