Jaskaur Meena

राजस्थान में विधानसभा चुनावों से पहले सियासत परवान चढ़ने लगी है. राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा तथा उससे पहले बीजेपी द्वारा निकाली जा रही जन आक्रोश यात्रा को लेकर कांग्रेस बीजेपी में बयानबाजी चरम पर है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की सभा में कम भीड़ जुटने को लेकर कांग्रेस के हमले के बाद अब बीजेपी भी आक्रामक मूड में आ गई है.

दौसा से लोकसभा सांसद जसकौर मीणा ने राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा के स्वागत को लेकर कांग्रेस नेताओं पर विवादित बयान दिया है. उन्होंने जन आक्रोश यात्रा के रथों को रवाना करने से पहले आयोजित कार्यक्रम में बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह मत सोचिए कि राहुल की यात्रा हमारे संसदीय क्षेत्र से गुजर रही है वह तो झालावाड़ से ही चलेंगे तो उनके पीछे-पीछे गहलोत व कांग्रेस के नेता पांव चाटते हुए चलेंगे.

उन्होंने कहा कि यह नेता सिर्फ इसलिए चाट रहे हैं कि इनको कमाने के लिए भ्रष्टाचार का अड्डा दे रखा है. हमें इस अड्डे को ध्वस्त करते हुए इनकी बेईमानी, भ्रष्टाचार, व चरित्र को उजागर करना है. हमें बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व का विश्वास जीतते हुए जन आक्रोश यात्रा के जरिए कांग्रेस सरकार को बेनकाब करना है. साथ ही सभी 200 सीटों पर कब्जा करने की कल्पना करनी चाहिए.

गहलोत पायलट पर भी कटाक्ष

बीजेपी सांसद ने कहा की नेता की कोई पहचान नहीं होती. नेता वही होता है जो जनता के दिलों में राज करें. क्या यह मानते हो कि गहलोत जनता के दिल में राज करता है. नहीं, गहलोत जनता के दिल पर राज नहीं बल्कि जिस तरह दो दुश्मनों ने दोनों हाथ ऊपर किए लेकिन उनके हाथ नहीं मिले, इस बात का एहसास हमें बराबर रखना है. दिल में कमजोरी नहीं लानी कि हमारे बीच में वह दोनों मिलकर आ रहे हैं. उनके दिल टूटे ही रहेंगे वह कभी एकजुट नहीं हो सकते.

बीजेपी सांसद जसकौर ने कहा कि उनकी भारत जोड़ो नहीं भारत तोड़ो यात्रा चल रही है. उनका एक बच्चा अंतरराष्ट्रीय नेता बनकर जिस तरीके से आगे बढ़ रहा है उसको संस्कारों व संस्कृति का कोई ज्ञान नहीं है. वह भारत की अस्मिता व गरिमा को भी नहीं समझता है. ऐसे नेता के लिए राजस्थान की जनता की पसीने की कमाई को विकास कार्यों में लगाने की वजह पानी की तरह बाहर हैं.

आपको बता दें कि 4 दिसंबर को राजस्थान में प्रवेश करने के बाद राहुल गांधी राजस्थान मध्य प्रदेश बॉर्डर पर ही नाइट स्टे करेंगे. 5 दिसंबर को वह 34.2 किलोमीटर चलेंगे अगले. 14 दिनों में राहुल गांधी 485 किलोमीटर का सफर तय करेंगे. इस हिसाब से औसत निकाला जाए तो 1 दिन का सफर 34.64 किलोमीटर का होगा. आखिरी दिन 21 दिसंबर की सुबह 8 किलोमीटर चलकर हरियाणा में प्रवेश करेंगे राहुल गांधी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here