Saturday, March 2, 2024
No menu items!
HomeState NewsRajasthan की घटना को लेकर क्यों हो रहा है कांग्रेस से सवाल?

Rajasthan की घटना को लेकर क्यों हो रहा है कांग्रेस से सवाल?

Rajasthan: राजस्थान पुलिस की तरफ से बताया गया है कि प्रतापगढ़ जिले में एक आदिवासी महिला को उसके पति के द्वारा कथित तौर पर मारा गया, नग्न किया गया और निर्वस्त्र करके पूरे गांव में घुमाया गया. इस पूरे मामले का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें एक व्यक्ति कथित तौर पर उसका पति 21 वर्षी महिला को घर के बाहर निर्वस्त्र कर रहा है.

पुलिस के मुताबिक महिला के साथ इस तरह का अभद्र करने वाले पति को शक था कि उसके संबंध किसी और व्यक्ति के साथ हैं. पुलिस ने शनिवार सुबह कहा कि महिला के पति सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और भी गिरफ्तारियां होने की संभावना है.

इस पूरे मामले पर बीजेपी, कांग्रेस की राजस्थान सरकार पर हमलावर है. इसके अलावा राष्ट्रीय महिला आयोग भी सक्रिय हो गया है राजस्थान की अमानवीय घटना पर. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और अन्य मंत्रियों पर आपसी गुटबाजी में व्यस्त होने का आरोप लगाते हुए कहा है कि राजस्थान में शासन पूरी तरह से गायब है.

हालांकि यही राष्ट्रीय महिला आयोग मणिपुर की घटना पर महीना तक चुप्पी साधे हुए था, लेकिन राजस्थान की घटना पर तुरंत सक्रिय हो गया.

सोशल मीडिया पर विपक्ष के खिलाफ हमलावर रहने वाले पत्रकार भी राजस्थान की घटना पर कांग्रेस से सवाल कर रहे हैं.

आपको बता दें कि राजस्थान में इस तरह की अभी सिंगल घटना हुई है और तुरंत कार्रवाई भी हुई है. लेकिन मणिपुर में पुलिस की मौजूदगी में सब कुछ हुआ और इस तरह की कई घटनाएं भी हुई. पुलिस जानती थी सब कुछ लेकिन कई हफ्ते तक गिरफ्तार नहीं किया. जब वीडियो वायरल हुआ, लोगों ने विरोध किया तब भी कई दिन लगा कार्यवाही में.

मणिपुर के मुख्यमंत्री की तरफ से कहा गया कि ऐसी बहुत घटनाएं हुई है और मणिपुर में आज भी स्थिति ठीक नहीं हुई है. दूसरी तरफ मणिपुर की घटना पर चुप्पी साथ लेने वाला राष्ट्रीय महिला आयोग जिस तरह से राजस्थान की घटना पर सक्रिय हुआ है उससे कहीं ना कहीं ऐसा लग रहा है कि महिला आयोग भी राजनीतिक पार्टी और विचारधारा देख कर ही अब प्रतिक्रिया देने लगा है.

निश्चित तौर पर महिलाओं के खिलाफ पूरे देश में जिस तरह के अपराध हो रहे हैं उसे देखते हुए राजनीति से ऊपर उठकर, राजनीतिक विचारधाराओं से ऊपर उठकर एक साथ आवाज बुलंद करने की जरूरत है, ताकि ऐसी घटनाओं को रोका जा सके.

Rajasthan Police Twitt

लेकिन अफसोस यह है कि चाहे वह किसी भी पार्टी के नेता हो या फिर किसी भी पार्टी का समर्थन करने वाले तथाकथित पत्रकार हो, जहां खुद की पार्टी की सरकार होती है वहां चुप्पी साथ लेते हैं. लेकिन जहां दूसरी पार्टी की सरकार होती है और कार्रवाई भी त्वरित होती है वहां यह हमलावर हो जाते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments