Besharam rang Deepika Padukone

‘बेशरम रंग’ (Besharam rang) गाने में दीपिका पादुकोण की बिकनी के रंग को लेकर खूब विवाद हो रहा है. दीपिका के भगवा रंग की बिकनी को लेकर नेताओं से लेकर हिंदू संगठनों ने विरोध दर्ज किया है. भगवा बिकिनी को सनातन धर्म का अपमान बताया जा रहा है. फिल्म को बैन करने की मांग भी हो रही है. पहले बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्र ने ट्वीट कर कहा कि टुकड़े-टुकड़े गैंग की समर्थक अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की वेशभूषा बेहद आपत्तिजनक है.

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री के बाद विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल और करणी सेना ने फिल्म को लेकर विरोध प्रदर्शन किया. हालांकि यह पहली बार नहीं है जब दीपिका ने ही भगवा रंग की बिकनी पहनी है. इससे पहले भी कई एक्ट्रेसेस इस रंग की बिकनी में नजर आ चुकी हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर दीपिका ही निशाने पर क्यों आई?

दिशा पाटनी ने भी कुछ वक्त पहले एक तस्वीर शेयर की थी, जिसमें वह समुंदर किनारे बिकनी में नजर आ रही हैं.

सारा अली खान भी अपनी फोटो वेकेशन के दौरान शेयर की थी. सारा अली खान धूप एंजॉय करती हुई नजर आई थी. इसके अलावा भी कई एक्ट्रेसेस हैं जो इस तरह की तस्वीर अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर कर चुकी है.

दरअसल दीपिका पादुकोण का कुछ सालों पहले भी विरोध हुआ था जब जेएनयू के अंदर मारपीट हुई थी और दीपिका पादुकोण छात्रों से मिलने के लिए जेएनयू पहुंच गई थी. उस वक्त भी एक विचारधारा विशेष के लोगों ने दीपिका का खूब विरोध किया था.

पठान फिल्म में दीपिका के साथ-साथ शाहरुख खान भी हैं और पिछले कुछ वक्त से बॉलीवुड से जुड़े हुए एक तबके का विरोध भी एक विचारधारा विशेष के लोग कर रहे हैं. ऐसे में समझा जा सकता है कि दीपिका पादुकोण का कनेक्शन जेएनयू से भी रहा है इस कारण भी उनका विरोध इतने बड़े स्तर पर हो रहा है.

आपको बता दें कि बीजेपी नेताओं के अलावा मध्य प्रदेश उलेमा बोर्ड के अध्यक्ष सैयद अनस अली ने कहा है कि एक फिल्म पठान नाम से बनी है, जिसमें शाहरुख खान एक हीरो है. लोगों उन्हें देखते हैं, पसंद करते हैं. लेकिन हमारे पास कई जगह से फोन और शिकायतें आई हैं और उन्होंने गुस्से का इजहार किया है कि इस फिल्म के अंदर अश्लीलता फैलाई गई है. और इसमें इस्लाम का गलत प्रचार प्रसार किया गया है.

उन्होंने आगे कहा है कि इस फिल्म को लेकर ऑल इंडिया मुस्लिम त्योहार कमेटी ने स्टैंड लिया है और इस फिल्म का बहिष्कार किया है. हम भी हुकूमत के लोगों से, जवानों से अपील करते हैं कि इस फिल्म को ना देखें. उन्होंने कहा है कि इस फिल्म को रिलीज नहीं होना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here