Pathaan movie Poonam Pandey

शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) की फिल्म पठान (Pathaan movie) इस वक्त जबरदस्त सुर्खियों में है. फिल्म के पोस्टर्स और टीजर को तो लोगों ने खूब प्यार दिया. लेकिन जैसे ही फिल्म का “बेशर्म रंग” (Besharam Rang) गाना रिलीज हुआ तो उस पर बवाल मच गया. पठान विवाद के बीच कोई शाहरुख खान-दीपिका (deepika padukone films) को ट्रोल कर रहा है तो कई लोग उनके सपोर्ट में आगे आ रहे हैं.

अब पूनम पांडे (Poonam Pandey) ने भी पठान विवाद पर अपनी राय सामने रखी है. बेशर्म रंग गाने में दीपिका पादुकोण की बिकनी और शाहरुख संग उनके रोमांस पर हो रही ट्रोलिंग पर पूनम पांडे ने अलग अंदाज में रिएक्ट किया है. मीडिया इंस्ट्रक्शन के दौरान उनसे पूछा गया कि बेशर्म रंग गाने में दीपिका पादुकोण की बिकनी के रंग और फिल्म को लेकर जो विवाद हो रहा है उस पर क्या कहना है?

इस सवाल के जवाब में पूनम पांडे ने कहा कि इस बारे में बात करना बेवकूफी होगी. गाना इतना खूबसूरत है, दीपिका खूबसूरत लग रही हैं. यह एक शानदार गाना है और मेरे फेवरेट एसआरके इतने हॉट लग रहे हैं. पूनम पांडे ने शाहरुख खान (shah rukh khan movies) की तारीफ करते हुए कहा कौन इतना हॉट दिख सकता है.. गुनाह है ये.. पाप है ये.. मत करो सर.

आपको बता दें कि इस फिल्म पर जमकर कंट्रोवर्सी हो रही है. भले ही इस फिल्म का कुछ लोग विरोध कर रहे हैं और इसके बहिष्कार की मांग कर रहे हैं, लेकिन शाहरुख के फैंस उनकी इस फिल्म को देखने के लिए एक्साइटेड है. शाहरुख खान पठान से 4 साल बाद सिल्वर स्क्रीन पर वापसी कर रहे हैं. ऐसे में फैंस का उत्सुक होना तो बनता है. फिल्म 25 जनवरी 2023 को रिलीज (Pathaan movie release date) हो रही है.

Also Read- Pathaan movie controversy: भगवाधारी संत ऐसी भाषा कब से बोलने लगे?

1 COMMENT

  1. मैं मानता हूँ कि फिल्म जगत में कुछ मुस्लिम नाम के कलाकार हैं और बहुत सारे मुस्लिम नाम के ही उनके चाहने वाले भी हैं परन्तु यह भी एक कड़वा सच है कि इस्लाम धर्म इस तरह के कार्य को प्रोत्साहित नहीं करता
    ___ राजनीति एक ऐसी दलदल है जिस में फंसा हुआ प्राणी निकलने के लिए जितना छटपटाता है उतना ही गहरा धंसता चला जाता है और अंततोगत्वा दलदल उसे आत्मसात कर लेती है….. कलियुगीय भारत की यह विडंबना है कि सत्ता को दो गुजरातियों ने हाईजैक कर लिया है एक वह है जिसे भारतीय न्यायालय ने जिला-बदर (तड़ीपार) करके यह बताया था कि यह व्यक्ति इस शहर/समाज में रहने योग्य नहीं और दूसरा वह है जिसे अमेरिका ने नरसंहार का दोषी मानते हुए अपने देश में घुसने से रोक दिया था….. उन्ही के फालोअर्स ने आज भारतीय गंगा जमुनी संस्कृति को विषाक्त कर दिया है और उपरोक्त/तथाकथित कलाकार का अहो भाग्य कि वह मुसलमान है……वस विरोध का कारण अंधभक्ती है और कुछ भी नहीं….!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here