Brajesh Mishra

देश में कोरोना संक्रमण ने अब तक के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं. हर दिन पिछले दिन से अधिक नए मामले दर्ज हो रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय की ताजा रिपोर्ट के अनुसार पिछले 24 घंटे में 273810 नए मामले दर्ज हुए हैं और 1600 संक्रमितो की जान चली गई है.

भारत में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर सितंबर 2020 में आई पहली लहर से अलग है, क्योंकि नए मामले बढ़ने की दर काफी अधिक है. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि फरवरी से अप्रैल तक प्रतिदिन 10000 से 80000 नए मामलों की वृद्धि 40 दिनों से भी कम समय में हुई, पिछले सितंबर में इस सफर में 83 दिन लगे थे.

वायरस ने पूरे देश के साथ-साथ उत्तर प्रदेश में भी भारी तबाही मचाई है. उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरीके से चरमरा चुकी है. सरकार जवाब देने की हालत में नहीं है. लखनऊ से लेकर प्रयागराज तक नोएडा तक हाहाकार मचा हुआ है. उत्तर प्रदेश के प्रयाग राज में तो रविवार को 24 घंटे के भीतर 1700 नए संक्रमित केस बढ़े हैं.

हालात देखकर ऐसा लग रहा है कि सिस्टम फेल हो चुका है. इसी को लेकर बृजेश मिश्रा ने एक ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रण से बाहर है. गांव, ग्रामीण तक हाहाकार मचा है. कोरोना गांव तक पहुंच चुका है. जहां न टेस्ट है-न इलाज है. लोग तड़प-तड़प कर मर रहे है. सरकारी दावे झूठे और हवाई है. एक-एक सांस का संघर्ष है. सिस्टम ढह गया है. मदद की हर पुकार अनसुनी है. घर पर रहिए.

आपको बता दें कि UP में बेकाबू कोरोना वायरस के संक्रमण पर काबू पाने के लिए सरकार की तरफ से कुछ कदम भी उठाए गए है. CM योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि हर अस्पताल में 36 घंटे का हो ऑक्सीजन बैकअप, इसके अलावा मास्क ना पहनने वालों पर सख्ती के भी निर्देश दिए गए हैं. लेकिन फिर भी सरकार की तरफ से उठाए जा रहे हैं कदम कारगर साबित होते हुए दिखाई नहीं दे रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here