Asaduddin Owaisi Rahul Gandhi

गुजरात में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, जिसको लेकर तमाम दलों ने मैदान संभाल लिया है. राहुल गांधी भी भारत जोड़ो यात्रा के बीच गुजरात में कुछ चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे ऐसी खबरें आ रही हैं. इस वक्त राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा में हैं लेकिन गुजरात चुनाव के महत्व को देखते हुए वह कांग्रेस की तरफ से चुनाव प्रचार करेंगे ऐसी संभावनाएं जताई जा रही हैं. गुजरात से लेकर जो खबरें आ रही हैं उसको लेकर राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हैं.

बीजेपी ने अपने कई पुराने नेताओं का टिकट काट दिया है. कई नेताओं ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है. दिल्ली में एमसीडी के चुनाव होने वाले हैं और जब से दिल्ली एमसीडी के चुनाव का ऐलान हुआ है गुजरात में आम आदमी पार्टी की हनक भी कम हुई है जो मीडिया में दिखाई दे रही थी. अब मुकाबला सीधा बीजेपी और कांग्रेस के बीच नजर आ रहा है. इन सब के बीच गुजरात में मुस्लिम मतदाता किसके साथ होंगे इसको लेकर भी चर्चाएं तेज हो गई हैं.

गुजरात का विधानसभा चुनाव ओवैसी की पार्टी भी लड़ रही है. ऐसे में संभावनाएं जताई जा रही है कि वह कुछ सीटों पर विपक्ष को नुकसान पहुंचा सकते हैं. एक मीडिया चैनल के कार्यक्रम में उन्होंने गुजरात चुनाव को लेकर अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों को दबाया जा रहा है चुनाव के वक्त राजनीतिक दल सेकुलर की दुहाई देते हैं लेकिन उसके बाद नाम लेने से कतराते हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का इतना बुरा हाल है कि हम बयां भी नहीं कर सकते.

ओवैसी ने कहा कि कांग्रेस की विश्वसनीयता खत्म हो गई है. कांग्रेस के विधायक जीत जाते हैं लेकिन बाद में बीजेपी में शामिल हो जाते हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नरेंद्र मोदी के नक्शे कदम पर चल रहे हैं और हिंदुत्व की राजनीति पर चल रहे हैं. वह कॉमन सिविल कोड पर नहीं बोलेंगे और बिलकिस बानो के मुद्दे नहीं उठाएंगे.

राहुल गांधी पर तंज कसते हुए ओवैसी ने कहा कि राहुल गांधी पर स्मृति ईरानी ही अच्छा बोल सकती हैं वह ज्यादा पढ़ी-लिखी हैं. हमें पीएम और सीएम नहीं बनना है. विपक्ष से प्रधानमंत्री बनना है तो उन्हें सोचना चाहिए. विपक्ष के लोग विचारधारा के स्तर पर बीजेपी और नरेंद्र मोदी से मुकाबला ही नहीं करते हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी मुझे पीएम मैटेरियल नहीं लगते और नीतीश कुमार का समय भी खत्म हो चुका है. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी और केजरीवाल भी मोदी के सामने खड़े नहीं हो सकते.

ओवैसी ने कहा कि पीएम मोदी के हटते ही बीजेपी भरभरा कर गिर जाएगी. ओवैसी ने कहा कि चुनाव के समय मुस्लिम के जो बड़े चौधरी बनते हैं उनकी वजह से यह हालत हो गए हैं कि मुस्लिम की छवि बीजेपी को हराने वाले के रूप में बन गई है. चुनाव के समय यह लोग एक्टिव होते हैं और वोट मांगते हैं. लेकिन हारने के बाद दिखाई नहीं पड़ते. इसी वजह से तो हम गुजरात में चुनाव लड़ रहे हैं. हम तो हर सीट पर जीतने की कोशिश करेंगे. मुझे जीतने का पूरा भरोसा है और हम बढ़िया सीटें निकालेंगे.

आपको बता दें कि ओवैसी पर हमेशा आरोप लगते हैं कि उनकी वजह से बीजेपी को फायदा होता है और चुनावी आंकड़ों पर अगर नजर डाली जाए तो ऐसा दिखाई भी देता है कि कई विधानसभा चुनावों में ओवैसी ने विपक्ष को नुकसान पहुंचाया है, जिसका सीधा लाभ उन सीटों पर बीजेपी को हुआ है. अब देखना यह होगा कि क्या गुजरात का मुस्लिम वोटर ओवैसी के साथ जाता है या फिर दूसरी पार्टियों का रुख करता है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here