Ashok Gehlot Rahul Gandhi

आज केंद्र में बीजेपी की सरकार है. लेकिन पिछले 8 सालों से यही प्रचारित हो रहा है कि बीजेपी की नहीं बल्कि मोदी सरकार है. मीडिया से लेकर तमाम बीजेपी के नेता मोदी सरकार का प्रचार कर रहे है. बीजेपी की एक पूरी मशीनरी प्रधानमंत्री मोदी के प्रचार में लगी रहती है मीडिया भी दिन-रात मोदी चालीसा का जाप करता है.

जनता तमाम परेशानियों से घिरी हुई है. चाहे रोजगार का क्षेत्र हो या फिर महंगाई का क्षेत्र हो, इसके अलावा किसानों का मुद्दा हो या फिर महिला सुरक्षा का मुद्दा हो, जिन मुद्दों को हवा देकर 2014 में केंद्र की यूपीए सरकार को बीजेपी ने हटाकर सत्ता प्राप्त की थी, आज उन मुद्दों पर पूरी तरीके से बीजेपी फेल साबित हुई है. लेकिन उसके बाद भी हर मुद्दे पर देश आगे बढ़ रहा है ऐसा प्रचारित करके गर्व कराया जा रहा है.

मीडिया से लेकर बीजेपी की तमाम प्रचार मशीनरी ऐसे प्रचारित कर रही है, जैसे देश में सब कुछ ठीक हो, देश का हर व्यक्ति खुशहाल हो. विपक्ष को मीडिया स्पेस नहीं देता. लेकिन इन सबके बीच एक व्यक्ति ऐसा है जो तमाम मुद्दों पर बिना वोट बैंक की प्रवाह किए हुए बीजेपी के खिलाफ लगातार आवाज उठा रहा है, लेकिन उसे जनता का साथ नहीं मिल रहा है, जनता उसे वोट नहीं कर रही है और वह व्यक्ति कोई और नहीं बल्कि बीजेपी की तमाम तरह की शक्तियों का, दुष्प्रचार का सामना कर रहा है राहुल गांधी है.

इसी को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने राहुल गांधी के लिए एक ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है कि, राहुल जी ने मोदी जी की गवर्नमेंट से 7 साल का जो मुकाबला किया है आज पूरा देश मान रहा है कि अगर कोई तर्क के साथ में इन लोगों के साथ राजनीति कर रहा है और विपक्ष की भूमिका निभा रहा है तो उनका नाम राहुल गांधी है, ये कम बात नहीं है.

अब सवाल यह है कि राहुल गांधी के बारे में जो राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने लिखा है क्या उससे जनता भी सहमत है? क्योंकि जनता तो राहुल गांधी का साथ नहीं दे रही है. राहुल गांधी की तरफ उम्मीद हर किसी को होती है लेकिन जब वोट देने की बारी आती है तो राहुल गांधी के नाम पर कोई वोट नहीं देता. लोग जो बीजेपी के खिलाफ है वह क्षेत्रीय पार्टियों में बिखर जाते हैं.

चाहे मुसलमानों का मुद्दा हो या फिर सिखों का मुद्दा हो या फिर हिंदुओं का मुद्दा हो, क्रिश्चियन का मुद्दा हो जहां भी जो व्यक्ति किसी भी धर्म का सताया जा रहा हो उसके लिए राहुल गांधी जरूर मोदी सत्ता के खिलाफ आवाज उठाते हैं. लेकिन मोदी सत्ता ने मीडिया के साथ मिलकर राहुल गांधी की ऐसी इमेज बना दी है कि लोग उन्हें वोट देने के नाम पर पीछे हट जाते हैं. लेकिन अगर कोई आपके खिलाफ हो रहे अपराध के लिए लड़ रहा है और आप उसे वोट नहीं देंगे, अपराध करने वालों के खिलाफ मजबूत आवाज उठाने वाले का साथ नहीं देंगे तो क्या फिर आगे भी कोई आपकी परेशानियों के लिए आवाज उठाएगा?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here