Pragya Thakur

भोपाल की बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur) हमेशा अपने बयानों के कारण सुर्खियों में बनी रहती हैं. कई बार अपने बयानों के कारण उन्हें आलोचना का सामना भी करना पड़ता है. इस बार बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने हिजाब कॉन्ट्रोवर्सी पर एक बयान दिया है. भोपाल से बीजेपी के सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने कहा है कि मुस्लिम महिलाओं को सबसे पहले अपने घरों में ही हिजाब पहनना चाहिए.

प्रज्ञा ठाकुर की बातों का अगर अर्थ निकाला जाए तो उनके अनुसार मुस्लिम लड़कियां अपने ही घरों में ज्यादा असुरक्षित है. प्रज्ञा सिंह ने अपने संसदीय क्षेत्र में आयोजित एक कार्यक्रम में हिसाब से जुड़े विवाद पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. उन्होंने कहा मुस्लिमों के घरों में महिलाओं के रिश्ते को लेकर जो हालात हैं उसके मद्देनजर इस वर्ग की महिलाओं को हिजाब अपने घर में सबसे पहले धारण करना चाहिए.

प्रज्ञा ठाकुर यहीं नहीं रुकी. उन्होंने आगे कहा बुआ की बेटी, मौसी की बेटी, बड़े पिता की पहली बीवी की बेटी की दूसरी बीवी के बेटे से रिश्ता आम बात है. उन्होंने कहा है हिंदू संस्कृति में मां बहन और स्त्री की पूजा होती है. मुस्लिमों में इससे उलट है, घर के घर में बहन बेटियों की शादी हो जाती है. ऐसे में मुस्लिम वर्ग की महिलाओं को हिजाब सबसे पहले अपने घर में ही पहनना चाहिए.

बीजेपी की सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने मुस्लिम महिलाओं को लेकर आगे कहा कि, बाहर जाकर तुम सूरत दिखाओ या ना दिखाओ आप खूबसूरत हैं या बदसूरत हैं, इससे हमें क्या लेना देना. प्रज्ञा सिंह ने आगे कटाक्ष करते हुए कहा, जहां हिजाब पहनना है वहां खिजाब लगाकर रखेंगे और जहां खिजाब लगाना चाहिए वहां हिजाब पहन कर रखते हैं. भाई उल्टा करोगे तो उल्टा ही होगा.

बीजेपी की सांसद ने आगे कहा कि, भारत में ऐसे मामलों में एक परिभाषा होनी चाहिए, जिस तरह से गुरुकुल में गुरु और शिष्यों के लिए वेशभूषा निर्धारित है, नियम संयम और अनुशासन होता है, सभी उसका पालन करते हैं. गुरुकुल के विद्यार्थी जब सामान्य स्कूलों में जाते हैं तो वहां गणवेश में को पहनते हैं, वहां के नियम कायदों का पालन करते हैं. जहां जो अनुशासन है वह अपनाइए.

प्रज्ञा ठाकुर ने आगे कहा कि आप पूरे देश के विद्यालयों और महाविद्यालयों के अनुशासन को तोड़ेंगे, ज्ञान का अनुशासन बिगाड़ोगे, हिजाब हिजाब चलाओगे, तो हिंदू धर्मावलंबी इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि खिजाब बुढ़ापा छुपाने के लिए लगाया जाता है और हिजाब चेहरा छिपाने के लिए लगाया जाता है, डर और पर्दा किससे?

प्रज्ञा ठाकुर ने आगे कहा कि पर्दा उससे रखो जो कुदृष्टि रखता हो. हिंदू कुदृष्टि नहीं रखते. जहां नारी की पूजा होती है वहां सनातन होता है और जहां नारी की पूजा नहीं होती वह स्थान शमशान के बराबर होता है. उन्होंने कहा भारत में हिजाब पहनने की जरूरत नहीं है, यहां नारी की पूजा की जाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here