Avantika mithya

मैंने प्यार किया जिस वक्त आई थी उस वक्त भाग्यश्री (Bhagyashree) फ्रेंडशिप कैप मे उस दौर में ब्रांड एंबेसडर बन गई थी. हर युवा जिसका यह डायलॉग बोलने लगा था, “दोस्ती में नो सॉरी नो थैंक्स” और जिसने सलमान को किस भी दिया तो बीच में शीशा था, वह पीढ़ी G5 की वेब सीरीज “मिथ्या” में भाग्यश्री की बेटी अवंतिका (Avantika) को किसी को व्हाट्सएप में अपना टॉपलेस फोटो भेजते देखेगी और बदले में एक लड़के का न्यूड फोटो मांगने के डिमांड रखते भी देखेगी.

इस नई वेब सीरीज की यही खासियत है कि आप इसे भाग्यश्री की बेटी और रोहन सिप्पी (Rohan Sippy) के डायरेक्शन के लिए देख सकते हैं. खास बात यह भी है कि इस मूवी को केवल 6 एपिसोड में समेटकर वेब सीरीज का पेस बनाए रखा.

इसीलिए इसका सस्पेंस भी बरकरार रहता है और पकड़ भी बनी रहती है. कहानी है एक लड़की रिया राजगुरु (आनंदिता) की और उसकी प्रोफेसर जूही (हुमा कुरैशी) की और उनके बीच पसारे तनाव की. कैसे हिंदी की प्रोफ़ेसर उसके कोर्स वर्क में साहित्य चोरी का आरोप लगाकर सेमेस्टर में फेल कर देती है.

बदले में रिया उसके पति को फंसाकर प्रोफेसर को पत्नी की नजर में गिरा देती है. पहले से ही जिनके रिश्ते, कोई बच्चा ना हो की वजह से खराब चल रहे थे. इसी दौरान प्रोफेसर के पति नील अधिकारी की हत्या हो जाती है. बस कहानी यहीं से एक मर्डर मिस्ट्री में बदल जाती है कि नील का मर्डर किसने किया.

रिया ने, उसकी पत्नी जूही ने? लेकिन सच के कई रूप होते हैं. उन्हें मिलाकर पूरा सच बनता है. इसी मूवी में हिंदी के प्रोफेसर जूही का वकीलों वाला यह डायलॉग रोहन सिप्पी ने सस्पेंस बनाए रखने के लिए अपने डायरेक्शन में आजमाया है. रोहन सिप्पी सस्पेंस बनाए रखने के लिए हर एपिसोड को शुरू हर बार जेल की सलाखों से करते हैं और पता नहीं चलता कि कौन जेल में है और कौन बाहर.

हर एपिसोड का एंड नील की तलाश और पुलिस इन्वेस्टिगेशन से करते हैं. ताकि लोग स्क्रीन से चिपके रहे. या एक अच्छी टाइमपास थ्रिलर है और अच्छे स्क्रीनप्ले और डायरेक्शन के चलते यह अच्छी लगी है सस्पेंस इस कदर बनाने की कोशिश की गई है जहां आपको मूवी खत्म लगती है उसके बाद भी खुलासे जारी रहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here