Sunil Jakhar KV Thomas

कांग्रेस का हाईकमान या यूं कहें कि नेतृत्व अब बागियों के खिलाफ सख्त रुख अपनाता हुआ दिखाई दे रहा है. कांग्रेस पार्टी की अनुशासन समिति ने पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ (Sunil Jakhar) को नोटिस भेजा है. इसके अलावा केरल के सीनियर नेता केवी थॉमस (KV Thomas) को भी नोटिस दिया गया है.

कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ को पार्टी लाइन के खिलाफ जाकर लगातार बयान बाजी करने और केवी थामस को हाईकमान की रोक के बाद भी सीपीएम के सेमिनार में जाने को लेकर नोटिस जारी किया गया है.

सुनील जाखड़ ने चुनाव से पहले से ही लगातार ऐसी बयानबाजी की है जिससे पार्टी को काफी नुकसान हुआ है. जाखड़ ने चुनाव से पहले खुद के हिंदू होने के चलते पंजाब का मुख्यमंत्री न बनाए जाने की बात कही थी. उनके इस बयान की काफी चर्चा हुई थी. हालांकि अभी तक नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर कोई नोटिस जारी नहीं किया गया है, क्योंकि सिद्धू ने भी पूरे चुनाव में लगातार ऐसे बयान दिए हैं जिससे पार्टी को नुकसान हुआ है.

इसके अलावा केवी थॉमस को पार्टी हाईकमान ने सीपीएम के सेमिनार में जाने से मना किया था. लेकिन उन्होंने अनुशासन को तोड़ते हुए उसमें जाने का फैसला लिया. पार्टी की ओर से ऐसे ही रोक सीनियर नेता शशि थरूर पर भी लगाई गई थी लेकिन वह उससे बने रहे.

आपको बता दें कि 5 राज्यों की चुनावी हार के बाद लगातार सोनिया गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस के अंदर कड़े फैसले देखने को मिल रहे हैं. कांग्रेस में आने वाले कुछ महीनों में बड़े बदलाव के भी संकेत दिखाई दे रहे हैं.

क्या उठेंगे इस फैसले पर सवाल?

कांग्रेस हाईकमान ने सुनील जाखड़ और केवी थॉमस को लेकर कड़े तेवर तो अपना लिए हैं, क्योंकि उन्होंने पार्टी लाइन से हटकर बयानबाजी की है, जिससे पार्टी को नुकसान हुआ है. लेकिन इस फैसले पर सवाल भी उठ सकते हैं. क्योंकि G-23 के नेता लगातार ऐसी बयानबाजी करते रहे हैं जिससे पार्टी को कई सवालों का सामना करना पड़ा है तथा राजनीतिक नुकसान भी हुआ है.

अगर G-23 के नेताओं के खिलाफ भी ऐसे नोटिस जारी नहीं होते हैं तो फिर कांग्रेस हाईकमान पर उंगलियां उठने लगेंगी और पक्षपात के आरोप भी लगेंगे. देखना यह होगा कि क्या आने वाले समय में गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल जैसे नेताओं के खिलाफ भी ऐसी ही कार्यवाही होगी या उन्हें बख्श दिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here