Prashant-Kishore-thoughtofnation

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कोरोना संकट को लेकर सरकार पर बड़ा निशाना साधा है. प्रशांत किशोर ने एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने PM मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन पर हमला बोला है.

प्रशांत किशोर ने ट्वीट करके कहा है कि कोरोना पर जीत की घोषणा करके सरकार देश को धोखा दे रही थी. प्रशांत किशोर ने कहा है कि जब हालात सुधर जाएंगे तो वह भक्तों के साथ ही इसका क्रेडिट लेने आ जाएंगे. आपको बताते चलें कि 1 दिन पहले ही प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना को लेकर देशवासियों को संबोधित किया था.

PM के संबोधन के बाद से ही विपक्ष लगातार हमलावर है. PM के संबोधन के बाद प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री मोदी कोरोना को इग्नोर कर रहे हैं, क्योंकि वह अपनी समझ और दूरदृष्टि की कमियों को छुपाना चाहते हैं. बता दें कि कुछ समय पहले ही क्लब हाउस चैट में प्रशांत किशोर ने खुलकर पश्चिम बंगाल चुनाव को लेकर बातें कही थी.

प्रशांत किशोर ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि मोदी सरकार वायरस पर जीत का दावा कर रही थी और यह करके वह देश को धोखा दे रही थी. अगर समस्या बनी रहती है तो दूसरों को जिम्मेदार ठहराया जाता है और स्थिति ठीक हो जाती है तो भक्तों की आर्मी के साथ क्रेडिट लेने आ जाते हैं.

आपको बता दें कि प्रियंका गांधी ने भी देश में जारी महामारी को लेकर प्रधानमंत्री पर हमला बोला है. प्रियंका गांधी ने कहा है कि लोग दवाइयों और ऑक्सीजन के लिए रो रहे हैं और आप रैलियों में हंस रहे हैं. हर जगह से लोगों के रोने की रिपोर्ट आ रही है और आप चुनावी रैलियों में जाकर हंस रहे हैं. प्रियंका गांधी ने कहा है कि आप चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं.

प्रियंका गांधी ने कहा है कि लोग मदद की गुहार लगा रहे हैं, लेकिन आप बड़ी बड़ी रैलियों में जाकर हंस रहे हैं. हंस कैसे सकते हैं? समझ में नहीं आ रहा है कि यह सरकार क्या कर रही है? श्मशान घाटों पर भीड़ लगी है लोग कूपन लेकर खड़े हैं, हम इस स्थिति मे सोच रहे हैं कि हम क्या करें. जो सरकार को करना चाहिए था वह सरकार नहीं कर रही है.

प्रियंका ने आगे कहा है कि मैं सकारात्मक तरीके से कह रही हूं कि भगवान के लिए सरकार कुछ करें. उनके पास जितने संसाधन है उन्हें वह कोरोना की लड़ाई में लगाए. अगर केंद्र सरकार अपना मन बनाए तो अभी भी ऑक्सीजन की सुविधाएं बनाई जा सकती हैं. कितनी बड़ी त्रासदी है कि देश में ऑक्सीजन उपलब्ध है लेकिन जहां पहुंचना चाहिए वहां पहुंच नहीं पा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here