Hardik Patel

कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल (Hardik Patel) को अहमदाबाद से सेशन कोर्ट से बड़ी राहत मिल गई है. गुजरात सरकार ने हार्दिक पटेल और 17 दूसरे लोगों के खिलाफ दर्ज केस को वापस लेने के लिए कोर्ट में याचिका दायर की थी, उसे कोर्ट द्वारा स्वीकार कर लिया गया है. ऐसे में हार्दिक पटेल और उनके साथियों पर दर्ज हुआ मामला अब वापस हो सकता.

साल 2017 में हार्दिक पटेल (Hardik Patel) और 17 दूसरे लोगों पर तोड़फोड़, उपद्रव फैलाने का आरोप लगा था. तब नगर पार्षद परेश पटेल ने रमोल पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई थी और कहा था कि भीड़ द्वारा उनके घर पर आधी रात को हमला किया गया, उनकी नेम प्लेट और घर में लगा झंडा जला दिया गया. आरोप यह भी लगाया गया था कि भीड़ द्वारा परेश पटेल के परिवार को गालियां दी गई.

Hardik Patel चर्चा के केंद्र में

हार्दिक पटेल (Hardik Patel) की राजनीति भी इस वक्त चर्चा का विषय बनी हुई है. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले उनकी कांग्रेस से नाराजगी, कुछ मुद्दों पर बीजेपी की तारीफ और पिता की पुण्यतिथि के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री से लेकर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष तक को न्योता देने जैसे मुद्दों ने अटकलों के बाजार को गर्म किया है. एक मीडिया चैनल से बातचीत में हार्दिक पटेल कह चुके हैं कि अगर कोई बच्चा गलती करता है तो उसे समझाना किसी भी बड़े का दायित्व होता है. इशारों में उन्होंने यह भी साफ कर दिया था कि बातचीत के जरिए तमाम विवादों को सुलझाने का प्रयास किया जाएगा.

इन सबके अलावा हार्दिक पटेल (Hardik Patel) पिछले कुछ दिनों से खुद को सबसे बड़ा हिंदू बता रहे हैं और कह रहे हैं कि उनसे बड़ा कोई दूसरा हिंदू नहीं हो सकता. हाल ही में उन्होंने जामनगर में शिक्षा मंत्री जीतू वघनी के साथ मंच भी साझा किया था. हार्दिक वहां पर गए तो एक कार्यक्रम के लिए थे, लेकिन बीजेपी नेता के साथ उनका दिखना फिर चर्चा का विषय बना. अभी तक इस मामले में ना बीजेपी खुलकर कुछ बोल रही है और ना ही हार्दिक पटेल की तरफ से कोई इशारा हुआ है.

हालांकि हार्दिक पटेल (Hardik Patel) कह चुके हैं कि वह कांग्रेस छोड़कर कहीं नहीं जा रहे हैं, परिवार में बातें होती हैं, मनमुटाव होता है. लेकिन पिछले कुछ समय से जिस तरह से हार्दिक पटेल लगातार अपना स्टैंड बदल रहे हैं उससे उनकी विश्वसनीयता भी कहीं ना कहीं कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं के बीच कम हुई है. दूसरी तरफ यह भी चर्चा थी कि हार्दिक आम आदमी पार्टी ज्वाइन कर सकते हैं, लेकिन उन्होंने इस बात को सिरे से खारिज कर दिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here