Vijay Rupani.

गुजरात में सियासी हलचल तेज हो गई है. विजय रुपाणी ने शनिवार को मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने कहा कि मैं बीजेपी को आभार व्यक्त करता हूं. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस्तीफा दे दिया है.

वे मीडिया से बात कर रहे हैं. उन्होंने कहा है कि पार्टी में समय के साथ दायित्व बदलते रहते हैं. पार्टी में यह स्वभाविक प्रक्रिया है. मुझे 5 साल के लिए मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी मिली, यह बहुत बड़ी बात है. रुपाणी ने कहा कि जेपी नड्‌डा जी का भी मार्गदर्शन मेरे लिए अभूतपूर्व रहा है. अब मुझे जो भी जिम्मेदारी मिलेगी मैं उसका निर्वहन करूंगा. हम पद नहीं जिम्मेदारी कहते हैं.

सीएम का अचानक इस्तीफा देने इसलिए भी अहम माना जा रहा है, क्योंकि गुजरात में भी अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में रूपाणी का अचानक इस्तीफा देना सभी को चौंका रहा है. गुजरात तीसरा राज्य है जहां बीजेपी की सरकार है और सीएम ने इस्तीफा दिया है. इससे पहले उत्तराखंड और कर्नाटक के सीएम बदले जा चुके हैं.

इस्तीफा देने के बाद रूपाणी ने सबसे पहले पीएम नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया कि उन्होंने उन्हें नेतृत्व का मौका दिया. रूपाणी ने कहा कि अब गुजरात का विकास नए नेतृत्व के हाथों में होगा अब वो नई भूमिका में पार्टी को अपनी सेवाएं देंगे.

उन्होंने कहा मुझे जो जिम्मेदारी मिली थी वह मैंने पूरी की है. हम प्रदेश के चुनाव नरेंद्र मोदी जी की अगुवाई में लड़ते हैं. और 2022 का चुनाव भी उन्हीं की अगुवाई में लड़ा जाएगा. बता दें रुपाणी ने 26 दिसंबर 2017 को दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी.

बीजेपी ने गुजरात में 182 सीटों में से 99 सीटें जीतकर बहुमत हासिल किया था. विधानमंडल दल की बैठक में रुपाणी को विधायक दल का नेता और नितिन पटेल को उपनेता चुना गया था. रूपाणी के इस्तीफे पर पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने कहा है कि भाजपा जनता को गुमराह कर रही है. कोरोना में अव्यवस्था और नाकामी की वजह से लोगों में नाराजगी थी. ऐसे में भाजपा सीएम बदलकर लोगों को गुमराह कर रही है. उसने उत्तराखंड में भी यही किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here