Amit Shah UP News

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर योगी सरकार की तारीफ करते हुए कहा है कि कोई भी बाहुबली अब दूरबीन का उपयोग करके भी नहीं देखा जा सकता है और अब यहां केवल और केवल बजरंगबली हैं. चुनावी रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा और कहा कि समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव को कानून व्यवस्था में सुधार नहीं दिख रहा है, क्योंकि उन्होंने काला चश्मा पहन रखा है.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि बीजेपी ने 2017 के चुनाव अभियान में कानून व्यवस्था में सुधार का वादा किया था और योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने माफिया तत्वों का प्रदेश से सफाया करके दिखाया है. अमित शाह ने कहा कि योगी जी ने सरकार इस तरह चलाई है कि दूरबीन से भी कोई बाहुबली नहीं देखा जा सकता है. हर जगह बजरंगबली ही नजर आ रहे हैं.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रैली में आए लोगों से पूछा कि आजम खान, अतीक अंसारी और मुख्तार अंसारी आज कहां है? उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए आगे कहा कि अगर आप गलती करते हैं और साइकिल को प्रदेश की सत्ता में लाते हैं तो क्या वह जेल में रहेंगे? वह बाहर आएंगे और सभी को परेशान करेंगे. अगर आपको उन्हें जेल में रखना है और राज्य को बाहुबलियों से 5 साल और मुक्त रखना है तो बीजेपी को वोट दीजिए.

इसके अलावा गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मैं 4 चरणों में बीजेपी का प्रचार कर के आया हूं और सपा बसपा का सफाया हो गया है. इन चरणों में 300 से अधिक सीटों पर भाजपा की जीत की नींव रखी गई है. अब पांचवें चरण के मतदान को मजबूत करके इस नीव पर जनता को प्रदेश के विकास की इमारत खड़ी करनी है.

अब यहां सवाल उठता है कि क्या विपक्षी पार्टियों के जो नेता बाहुबली हैं या फिर जिन पर आरोप लगे हुए हैं और वह जेल में है, बीजेपी उन्हीं पर सिर्फ कार्रवाई करेगी? बीजेपी के खुद के केंद्रीय मंत्री के बेटे पर आरोप है, बीजेपी ने अपने मंत्री का इस्तीफा क्यों नहीं लिया? क्या मुख्तार अंसारी, अतीक और आजम खान के जेल जाने से उत्तर प्रदेश में माफिया राज समाप्त हो गया है?

अगर हो गया है तो फिर उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था लगातार सवालों के घेरे में क्यों है? लगातार उत्तर प्रदेश में हत्या और बलात्कार की घटनाएं क्यों हो रही है? गृह मंत्री अमित शाह इतनी चालाकी से उत्तर प्रदेश की जनता का ध्यान क्यों भटका रहे हैं? कुलदीप सिंह सेंगर जैसे अपने अपराधी नेताओं को पार्टी से निकालने में बीजेपी ने लंबा समय निकाल दिया, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जनता को इसका कारण क्यों नहीं बता रहे हैं?

उत्तर प्रदेश को अपराध मुक्त कर दिया, माफिया मुक्त कर दिया जैसी बातों का प्रचार मीडिया के सहारे कराकर क्या उत्तर प्रदेश की जनता की आंखें बंद कर पाएंगे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह? क्या उत्तर प्रदेश की जनता इतनी नासमझ है कि, प्रचार के भ्रम में आंखों से दिख रही सच्चाई नहीं देख पाएगी? केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जनता के सामने आंकड़ा क्यों नहीं रख रहे हैं कि, पिछले 5 साल में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कितने सरकारी रोजगार दिए, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में तथा गैस सिलेंडर की कीमतों में कितनी राहत दी गई जनता को?

आंकड़े बताते हैं कि उत्तर प्रदेश बीजेपी में अपराधियों की भरमार है. पिछले विधानसभा चुनाव में भी बहुत से अपराधी, जिन पर आरोप है जेल तक गए हैं, विधानसभा पहुंचे हैं और इस बार भी बहुत से अपराधियों को टिकट दिया है बीजेपी ने. तो क्या बीजेपी के अंदर अगर कोई अपराधी है उस पर कोई कार्यवाही बीजेपी की सरकार नहीं करेगी, उसको अपराधी नहीं मानेगी, ऐसा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कहना चाह रहे हैं? जनता का ध्यान क्यों भटकाना करना चाहते हैं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here