Amit Shah

कोरोना विस्फोटक रूप ले चुका है. महाराष्ट्र, दिल्ली तक और बंगाल से लेकर लखनऊ तक यहां तक कि भोपाल तक भी हाहाकार मचा हुआ है. कहीं हॉस्पिटल के लिए मरीज दर-दर भटक रहे हैं, तो कहीं ऑक्सीजन के लिए. सोशल मीडिया पर लोग एक दूसरे से मदद की गुहार लगा रहे हैं, राज्यों की सरकारें लाचार नजर आ रही है.

शाह से लेकर PM मोदी तक बंगाल में चुनाव प्रचार कर रहे हैं. उद्धव ठाकरे ने एक दिन पहले ही प्रधानमंत्री कार्यालय में फोन लगाया था, तो वहां से किसी कर्मचारी ने कहा कि PM अभी बंगाल के चुनावी दौरे पर हैं, आएंगे तो सूचित कर दिया जाएगा. महाराष्ट्र कोरोना की मार से कराह रहा है, महाराष्ट्र में एक दिन में 67 हजार से ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं, ऑक्सीजन की भारी किल्लत हो रही है.

कोरोना की दूसरी लहर जानलेवा साबित हो रही है. इसमें मरने वालों की तादाद लगातार बढ़ रही है. सांस लेने में तकलीफ हो रही है और देश में अलग-अलग शहरों में ऑक्सीजन की भी कमी है. लोग पहले की तुलना में कहीं अधिक जान गवा रहे हैं. सभी लोग मांग कर रहे हैं कि चुनावी रैलियों को रोककर पूरे देश में लॉकडाउन लगाया जाए और कुछ कारगर उपाय किए जाएं, ताकि लोगों की जान बचाई जा सके.

शाह से पश्चिम बंगाल की चुनावी रैलियों को लेकर मीडिया ने सवाल किया तो इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अजीबोगरीब बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि कोरोना का विस्फोट सबसे अधिक महाराष्ट्र में है और वहां तो चुनाव भी नहीं चल रहे हैं. अमित शाह ने कोरोना का चुनावी रैलियों से लेना देना है, इससे साफ इनकार कर दिया.

शाह का कहना है कि चुनावी रैलियों का असर बंगाल में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ाने मे हो रहा है, ऐसा मानना बिल्कुल भी ठीक नहीं है. एक तरफ चुनावी रैलियों में उमड़ती जनता की भीड़ और दूसरी ओर उमड़ती कोरोना रोगियों भीड़? इस सवाल पर गृह मंत्री बोले, देखिए महाराष्ट्र में चुनाव है क्या? महाराष्ट्र के लिए भी मेरे मन में पीड़ा है और बंगाल के लिए भी. इसको चुनाव के साथ जोड़ना ठीक बात नहीं.

शाह ने कहा कि किन-किन राज्यों में चुनाव हुआ? जहां चुनाव नहीं हुआ उधर भी मरीजों की संख्या बढ़ी है, अब आप बताइए क्या कहेंगे इस पर? कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि भाजपा के नेता और खुद शाह चुनावी रैलियां रोकने के मूड में नहीं है. उन्होंने चुनावी रैलियों और कोरोना मरीजों की संख्या की बढ़ोतरी की तुलना करने से साफ इनकार कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here