Deepak Sharma Rahul Gandhi

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से इस समय ईडी पूछताछ कर रही है और यह समय अवधि लगातार बढ़ती जा रही है. दूसरी तरफ कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता लगातार जनता के मुद्दों पर सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं तथा ईडी के विरोध में भी उनका प्रदर्शन जारी है. दूसरी तरफ आज यानी मंगलवार को ईडी ने फिर से राहुल गांधी को पूछताछ के लिए बुलाया है.

पिछले कुछ सालों में देखा गया है कि राहुल गांधी की छवि को अलग अलग तरीके से नुकसान पहुंचाने की कोशिश हो रही है. ऐसे तो राहुल गांधी कहते हैं कि उनके ऊपर एक भी भ्रष्टाचार का दाग नहीं है और बीजेपी सरकार भ्रष्टाचार के मुद्दे पर उनका कुछ भी नहीं बिगाड़ सकती. लेकिन जिस तरीके से ईडी बार- बार पूछताछ के लिए बुला रही है उससे जनता के मन में सवाल जरूर आएगा कि कुछ तो है, जिसके कारण उन्हें बार-बार बुलाया जा रहा है.

राहुल गांधी पर जो आरोप लगे हैं वह कितने सच है यह तो कोर्ट तय करेगा. लेकिन बार-बार बुलाने से जरूर जनता के मन में राहुल गांधी को लेकर एक छवि गढ़ने की कोशिश हो रही है. इसमें बीजेपी की राजनीति कितनी कामयाब होगी यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा. लेकिन राहुल गांधी के बारे में कई लोग कहते हैं कि उन्हें सत्ता से प्यार नहीं है और यह बात उन्होंने 10 साल की यूपीए शासन में साबित भी की है.

राहुल गांधी को लेकर वरिष्ठ पत्रकार दीपक शर्मा (Deepak Sharma) ने एक ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है कि, प्रधानमंत्री का ऑफर किसी ने बार बार ठुकराया था ..? क्या ऐसा संभव है ? शायद हां..क्योंकि, जिस एक्स्ट्रीम पर देश के अधिकतर नेता सोच नहीं सकते. उस छोर पर जीते हैं राहुल. पर देश की मनोदिशा, परिस्थितियां मानो पक्ष में न हो। टाईम आयेगा! इसके साथ ही राहुल गांधी को उन्होंने जन्मदिन की बधाई दी थी.

आपको बता दें कि ईडी द्वारा राहुल गांधी को बार-बर पूछताछ के लिए बुलाया जा रहा है, इसको लेकर कई लोग सवाल भी खड़े कर रहे हैं. कई कांग्रेस के नेता और खुद राहुल गांधी भी कह चुके हैं कि ईडी के दफ्तर में क्या सिर्फ कांग्रेस के नेताओं को बुलाया जाता है या कभी बीजेपी के नेताओं को भी बुला कर पूछताछ की जाती है? कई लोग ईडी की कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं और यह सवाल लंबे समय से उठ रहे हैं और आरोप लगा रहे हैं कि ईडी बीजेपी के इशारे पर कार्रवाई कर रही है पिछले कुछ सालों से. हालांकि यह आरोप कितने सही हैं यह हम नहीं बता सकते.

आपको बता दें कि दीपक शर्मा (Deepak Sharma) वरिष्ठ पत्रकार हैं और वह इंडिया टुडे से लेकर आज तक, दैनिक जागरण जैसे बड़े मीडिया घरानों से जुड़े रहे हैं. आज तक चैनल में वह स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम के एडिटर के तौर पर कार्यरत थे. दीपक शर्मा को मीडिया के क्षेत्र में काम करने का काफी अनुभव है. दीपक शर्मा को खोजी पत्रकार भी कहा जाता है. यूपीए के कार्यकाल में वह मनमोहन सिंह सरकार के खिलाफ मुखर होकर आवाज उठाते थे और सवाल करते थे. ठीक इसी तरह आज भी वह मोदी सरकार से बिना डरे सवाल करते हैं, लेकिन फर्क यह है कि आज वह किसी बड़े मीडिया घराने में काम नहीं कर रहे हैं. आज वह खुद के यूट्यूब चैनल के माध्यम से खोजी पत्रकारिता कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here