image

उत्तर प्रदेश में कोरोना पूरी तरीके से बेकाबू हो चुका है. बढ़ते संक्रमण की वजह से उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरीके से धराशाई हो चुकी है. खराब स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर नाराज गाजियाबाद अस्पताल के बाहर खड़े एक व्यक्ति ने अपना दर्द बयान किया.

इस व्यक्ति ने अपना दर्द बयान करते हुए कहा कि मैं खुद भी एक बीजेपी का कार्य करता हूं, लेकिन आज मुझे अपने आप को बीजेपी का कार्यकर्ता कहने में भी शर्म आ रही है. चरमराई हुई स्वास्थ्य व्यवस्था से परेशान होकर गाजियाबाद मे अस्पताल के बाहर खड़े अरुण गोयल नाम के एक शख्स ने न्यूज़ वेबसाइट द प्रिंट से बातचीत की.

न्यूज़ वेबसाइट से बात करते हुए अरुण गोयल ने कहा कि प्रशासन जितने भी दावे ठोक रही है कि हर जगह पर मेडिकल ऐड मिल रहा है, हर जगह फैसिलिटी मिल रही है ऐसा कुछ नहीं है. सब पूरी तरीके से फेल है. आगे उस शख्स ने कहा कि यह उससे पूछिए जिनके साथ यह सब बीत रहा है, अगर आपकी पहुंच है तो आपके लिए सब कुछ है, वरना कुछ नहीं है.

इसके साथ ही अरुण गोयल नाम के इस शख्स ने यह भी कहा कि कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री जो दावे करते हैं वह सब खोखले हैं, यहां कुछ नहीं है. सरकार पूरी तरीके से फेल है. हमने बीजेपी को इसलिए सपोर्ट नहीं किया था कि वह हमारा खून चूसेगी. मैं खुद एक बीजेपी का कार्य करता हूं, लेकिन आज मुझे यह कहते हुए शर्म आती है कि मैं बीजेपी का एक कार्यकर्ता हूं.

इसके अलावा उस शक्स ने भड़कते हुए कहा कि मैं आज के बाद कभी नरेंद्र मोदी को सपोर्ट नहीं करूंगा. आपको बता दें कि कोरोना के कारण UP में बिगड़ते हालात और वेंटिलेटर पर जा चुकी स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर भाजपा के सांसद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने भी अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं. जमीनी हकीकत से उलट लगातार योगी सरकार दावे कर रही है, जिससे जनता का आक्रोश बढ़ता जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here