Arvind-Kejriwal

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हरियाणा के जींद आज किसान महापंचायत को संबोधित किया. किसान आंदोलन को लेकर फिर से समर्थन जताते हुए केजरीवाल ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को चाहे कोई भी क़ीमत चुकानी पड़े, अंत तक किसान आंदोलन के साथ रहेंगे, चिंता मत करना दिल्ली में आपका छोरा सीएम है.

उन्होंने कहा, किसानों की मांगों के सामने बीजेपी और केंद्र सरकार को झुकना पड़ेगा और इनका गुरूर ख़त्म होगा. मैं किसानों के समर्थन में हर कुर्बानी देने को तैयार हूं. मुझे केंद्र सरकार की सजा की परवाह नहीं है. एनसीटी कानून को लेकर केंद्र पर हमला करते हुए केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी के सांसदों ने संसद में कहा कि किसानों का समर्थन करने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सजा दे रहे हैं.

केजरीवाल ने कहा, बीजेपी वालों को कहना चाहता हूं कि किसान आंदोलन के लिए केजरीवाल की जान भी चले जाएं, हम किसी सजा से नहीं डरते. हर देशभक्त का फर्ज है कि किसान आंदोलन का समर्थन करे, जो किसान आंदोलन के खिलाफ़ है वो देश का गद्दार है और जो किसान आंदोलन के साथ है वो देशभक्त है. उन्होंने कहा, मैं किसानों के समर्थन में हर कुर्बानी देने को तैयार हूं. किसान मुझे छोटा भाई, बेटा मानते हैं, मुझे केंद्र सरकार की सजा की परवाह नहीं है. बीजेपी वाले हमारी शक्ति ख़त्म करते रहते हैं.

उन्होंने कहा बीजपी इस देश की शक्तिशाली पार्टी है, लेकिन एक स्कूल नहीं बना पाई. स्कूल और अस्पताल बनाने के लिए शक्ति नहीं नीयत की ज़रूरत होती है. केजरीवाल के पास शक्तियां नही हैं, लेकिन नीयत साफ है. केजरीवाल ने कहा कि मेरी ज़िंदगी का एक ही सपना है, कि भारत को जीते जी नंबर 1 देश बनाना है. 5 साल में दिल्ली बदलकर दिखाई है. भगवान से मेरी सेटिंग है, मुझे इस पृथ्वी से तबतक मौत नहीं आएगी जबतक मैं भारत को दुनिया का नंबर 1 देश न देख लूं.

केजरीवाल ने कहा कि 300 से ज्यादा शहीदों की शहादत को नमन, जिन्होंने किसानों के संघर्ष में जान गंवा दी. अब आपकी और मेरी जिम्मेदारी है कि शहादत बेकार नहीं जाए, अंत तक लड़ना है. कल रोहतक में किसानों पर लाठी चार्ज कर दी, जो गलत बात है. जिस देश में किसान का सम्मान नहीं है वो देश प्रगति नही कर सकता है. आज पूरे हरियाणा में चक्का जाम किया है और हम किसानों का समर्थन करते हैं. इस कार्यक्रम में आने वालीं कई बसें चक्का जाम में फंस गई हैं, जाम में फंसे लोगों से माफी चाहूंगा.

दिल्ली सीएम ने कहा कि पंजाब और हरियाणा के किसानों ने देशभर के किसानों का नेतृत्व किया और तीनों काले कानून के खिलाफ आवाज़ बुलंद की. आम आदमी पार्टी, दिल्ली सरकार और अरविंद केजरीवाल आंदोलन की शुरुआत से किसानों के साथ हैं. किसानों पर हरियाणा सरकार ने आंसू गैस के गोले छोड़े और किसान दिल्ली बॉर्डर पर पहुंचे थे. केंद्र सरकार ने किसानों को 9 बड़े स्टेडियम को जेल में बदलकर किसानों को जेल में बंद करने का फैसला किया था, लेकिन किस्मत अच्छी थी कि स्टेडियम को जेल बनाने की पावर केजरीवाल सरकार के पास थी.

उन्होंने कहा, केंद्र सरकार ने फ़ाइल अप्रूव करने के लिए धमकी दी, लेकिन हमने अनुमति नही दी और दिल्ली पुलिस का प्रस्ताव खारिज़ कर दिया. केजरीवाल ने कहा कि हमने बॉर्डर पर लंगर लगाए, टॉयलेट और पानी का इंतज़ाम करवाया, फ्री वाईफाई लगवाए जिस दिन राकेश टिकैत भाईसाहब की आंखों में आंसू थे, मैंने राकेश टिकैत से फोन पर बात की और उन्हें कहा कि अपना दिल कमजोर मत करो.

दिल्ली सीएम केजरीवाल ने कहा योगी सरकार ने बिजली पानी कटवा दी थी, तब दिल्ली सरकार ने बिजली पानी की व्यवस्था की. मुझसे नाराज़ होकर केंद्र सरकार संसद में एक बिल लेकर आये, किसान आंदोलन का समर्थन करने के लिए सजा दे रहे हैं. दिल्ली में चुनी सरकार की बजाय सारी ताकत LG को दे दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here