Kanhaiya Kumar News

देश में अब एक नया बवाल शुरू हो गया है. केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ यूपी बिहार से लेकर हरियाणा और राजस्थान तक युवा सड़कों पर उतर आए हैं. इनमें से ज्यादातर वह युवा है जो सेना की तैयारी कर रहे हैं. इस योजना का सबसे ज्यादा विरोध बिहार में हो रहा है. बिहार में लगातार दूसरा दिन है जब इसका विरोध हो रहा है. प्रदर्शन कर रहे युवा इस योजना को वापस लेने की मांग पर अड़ चुके हैं.

बिहार से लगभग 1.04 लाख से अधिक युवा तीनों सेनाओं में कार्यरत हैं. इस मामले में बिहार दूसरे नंबर पर है. पहले नंबर पर उत्तर प्रदेश है जहां 2.18 लाख से ज्यादा युवा सेना में है. इनके बाद राजस्थान का नंबर आता है, जिसके 1.03 लाख जवान तीनों सेनाओं में है. आपको बता देंं कि सरकार के नए भर्ती फार्मूले से बवाल मचा हुआ है. सरकार कह रही है कि इससे युवाओं में देश को लेकर प्रेम बढ़ेगा. अग्निपथ की स्कीम को सरकार ने गेमचेंजर बताया है.

केंद्र की मोदी सरकार की सबसे अधिक आलोचना रोजगार के मोर्चे पर हुई है. इसलिए इस योजना के जरिए बड़े पैमाने पर युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे, ऐसा मोदी सरकार दावा कर रही है. लेकिन पूरे देश में इस योजना को लेकर बवाल मचा हुआ है. विपक्ष के निशाने पर मोदी सरकार आ चुकी है. देश में कई जगहों पर युवा सड़कों पर उतर कर तांडव कर रहे हैं.

इसी को लेकर कांग्रेस नेता कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने एक ट्वीट किया है, जो काफी वायरल हो रहा है. उन्होंने लिखा है कि, जो एंकर, नेता, मंत्री, ‘अग्निवीर’ के फ़ायदे गिना रहे हैं वो सबसे पहले अपने बच्चों को इस योजना का लाभार्थी बनायें. मंत्रीजी का बेटा बनेगा बीसीसीआइ में सेक्रेटरी और देश के युवाओं को मिलेगी चार साल की ठेके वाली नौकरी?

आपको बता दें कि सेना भर्ती का इंतजार कर रहे युवाओं का कहना है कि केवल 4 साल नौकरी का मौका मिलेगा उसके बाद फिर क्या होगा? इसके जवाब में सरकार का कहना है कि अधिकतर युवा 12वीं के बाद स्किल ट्रेनिंग लेते हैं या हायर एजुकेशन लेते हैं और फिर जॉब ढूंढते हैं. हम युवाओं को एक साथ तीन मौके दे रहे हैं. उन्हें अच्छी सैलरी मिलेगी, 4 साल में अच्छा बैंक बैलेंस हो जाएगा. साथ ही जॉब के दौरान उन्हें स्किल ट्रेनिंग भी दी जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here