Kanhaiya Kumar Modi

इस वक्त पूरे देश में प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) द्वारा देश से मांगी गई माफी के चर्चे हैं. प्रधानमंत्री मोदी की माफी को सभी अपने अपने तरीके से डिस्क्राइब कर रहे हैं. कोई कह रहा है कि यह आने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए जानबूझकर किया गया है और कोई कह रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी सच में किसानों के हितैषी हैं.

बीजेपी तथा उसके समर्थक तथा बीजेपी का दिन-रात गुणगान करने वाली मीडिया इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बड़ा दिल बताते हुए उनकी तारीफ कर रही है और किसानों के बीच तथा पिछले कुछ महीनों में धूमिल हुई छवि को बचाने की कोशिश कर रही है, तो वहीं विपक्ष इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नौटंकी करार दे रहा है.

इसी को लेकर हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने प्रधानमंत्री मोदी पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि, 2014 से एक सेल्समैन लगातार स्टेट्समैन होने की नौटंकी कर रहा है. किसान एमएसपी मांग रहे थे और ये किसानों को उनकी बर्बादी के क़ानून चिपका रहा था. किसानों ने कहा कि नहीं चाहिए तो कहता है कि मेरी तपस्या में कोई कमी रह गई, इसलिए मैं आपको ठीक से बेवकूफ नहीं बना पाया.

आपको बता दें कि किसान अभी भी आंदोलन खत्म करने के लिए तैयार नहीं है. वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा टीवी पर आकर किए गए ऐलान पर भरोसा करने के लिए तैयार नहीं है. उनका कहना है कि यह लोग चुनाव जीतने के लिए कुछ भी कर सकते हैं. जब तक संसद के अंदर कानून वापस नहीं लिया जाता है तथा एमएसपी की गारंटी नहीं दी जाती तब तक आंदोलन खत्म नहीं करेंगे.

इसके अलावा आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कृषि कानूनों के वापस लेने के ऐलान के बाद भी कई बीजेपी के नेता, जिसमें साक्षी महाराज शामिल है, कह रहे हैं कि यह कानून फिर से वापस लाया जाएगा. बीजेपी के समर्थक सोशल मीडिया पर भी यही बात कह रहे हैं कि चुनाव के बाद यह कानून फिर से आएगा. हालांकि प्रधानमंत्री ने भरोसा दिलाया है की कृषि कानून वापस हो जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here