Kanpur

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) से एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है. जिसको लेकर सोशल मीडिया से लेकर राजनीतिक गलियारों तक चर्चा हो रही है और दुख के साथ लोग आक्रोशित हैं. कुछ राजनीतिक हिंदू ना सिर्फ राम भक्त के नाम पर बल्कि हिंदू धर्म पर भी कलंक है, ऐसा इनकी हरकतों को देख कर लग रहा है.

क्योंकि राम का जोर-जबर्दस्ती और हिंसा से दूर दूर तक कहीं भी कोई संबंध दिखाई नहीं देता है. सबसे बड़ी बात बच्ची के पिता पर हिंसा करने वाले युवक ने पुलिस की मौजूदगी में यह सब कुछ किया है. FIR तो दर्ज हो गई है, गिरफ्तारी कब तक होती है देखने वाली बात होगी. कानपुर में धर्म परिवर्तन का आरोप लगा कर तथाकथित धर्मरक्षको द्वारा मुस्लिम शख्स को पीटने का मामला सामने आया है.

वीडियो मे देख सकते हैं कि कैसे एक युवक के साथ दरिंदगी की जा रही है, इन दरिंदों ने पीड़ित के साथ चल रहे मासूम बच्चे का भी लिहाज नही किया. इस वीडियो में एक बच्ची मार खाते अपने पिता से लिपटकर रोती हुई दिखाई दे रही है. लेकिन उसके बाद भी अपने आपको हिंदू रक्षक कहने वाले दरिंदों को बच्ची के चेहरे को देख कर भी दया और शर्म दोनों नहीं आ रही है. लगातार बच्ची के पिता को यह दरिंदे मारते हुए दिखाई दे रहे हैं और “जय श्रीराम” के नारे भी लगा रहे हैं.

“जय श्रीराम” के नारे को आजकल कुछ लोगों ने आतंक का पर्याय बना दिया है. कहीं ना कहीं यह लोग मर्यादा पुरुषोत्तम राम के नाम को बदनाम करने का काम कर रहे हैं. अगर उस व्यक्ति की गलती भी रही हो तो भी उसके लिए कानून है. इस तरह से भगवा गमछा डाल कर कानून अपने हाथ में लेना कहीं से भी समाज के लिए ठीक नहीं है.

पिछले कुछ दिनों से ऐसी घटनाएं लगातार देखने को मिल रही है, चाहे वह दिल्ली हो या कानपुर. इसलिए ऐसी घटनाओं के होने पर कुछ लोगों का कहना है कि यह सब कुछ उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हो रहा है. ताकि विधानसभा चुनाव में संप्रदायिक माहौल तैयार करके वोटों की फसल काटी जा सके, हिंदू और मुसलमान के नाम पर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here