karnal5

भारतीय किसान यूनियन (Indian Farmer’s Union) के आह्वान पर करनाल (Karnal) में किसान महापंचायत करके लघु सचिवालय का घेराव करने जा रहे हैं. इसलिए हरियाणा सरकार और करनाल प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हुए हैं.

जगह-जगह पुलिस और सुरक्षा बल के जवान तैनात हैं. इंटरनेट सेवा पूरी तरीके से बंद कर दी गई है. करनाल (Karnal) शहर में हाईवे पर एंट्री बैन है. ना शहर वाले हाईवे पर आ सकते हैं और ना ही हाईवे से उतर कर कोई शहर में घुस सकता है.

image4

एक तरह से करनाल (Karnal) शहर पूरी तरीके से सील है और जो सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक करनाल अनाज मंडी को खुली जेल में स्थानांतरित कर दिया गया है. मंडी से बाहर जाने वाले सभी रास्तों को सील कर दिया गया है. किसानों को बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है.

अनाज मंडी के सभी पांचों प्रवेश द्वारों पर पैरामिलिट्री फोर्स लगाई गई है. ताकि किसान शहर में घुस ही ना सके. साथ लगते इलाकों को भी सील कर दिया गया है. पुलिस ने रेत से भरे ट्रक खड़ा कर रास्ते ब्लॉक कर दिए है. जीटी रोड से लघु सचिवालय तक आने वाले रास्ते और शहर से लघु सचिवालय तक पहुंचने वाले रास्ते को ब्लॉक कर दिया गया है.

image

पैरामिलिट्री फोर्स के साथ-साथ सुरक्षा बलों की 40 कंपनियां तैनात की गई है. पुलिस की 30 कंपनियां और पैरामिलिट्री फोर्स की 10 कंपनियां लगाई गई हैं. इंतजाम को देखा जाए तो कहीं से भी यह मालूम नहीं हो रहा है कि यह किसी लोकतांत्रिक देश में कोई प्रदर्शन हो रहा है. इंटरनेट सेवाओं को भी बाधित कर दिया गया है, बंद कर दिया गया है. जैसे कश्मीर में किया गया था.

सोशल मीडिया पर इसको लेकर लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं. करनाल में क्या हो रहा है, इसकी अभी पुख्ता जानकारी नहीं मिल पा रही है. क्योंकि वहां इंटरनेट सेवाएं बंद पड़ी हैं. वहां की खबरें वहां के लोग वायरल नहीं कर पा रहे हैं.

राकेश टिकैत ने थोड़ी देर पहले सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से जानकारी दी थी कि करनाल पुलिस की बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज में शहीद किया सुशील काजला को न्याय दिलाने हेतु संयुक्त किसान मोर्चा के साथियों सहित कुछ समय में करनाल पहुंच रहा हूं आप सभी करनाल पर नजर बनाए रखें.

इसके अलावा योगेंद्र यादव ने कुछ देर पहले सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से लिखा था कि, करनाल महापंचायत में अब तक 20000 किसान पहुंच चुके हैं. किसान साथियों के आने का सिलसिला जारी है. प्रशासन द्वारा मीटिंग की पेशकश पर SKM की ओर से राकेश टिकैत, राजेवाल जी, गुरनाम सिंह चढुनी, दर्शन पाल, रामपाल चहल, अजय राणा, सुखविंदर सिंह, विकास सिसर, इंद्रजीत सिंह, सुरेश गोत और योगेंद्र यादव की कमेटी बनाई गई है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here