Diya Kumari Prince Tucy

ताजमहल के तहखाने के 22 कमरों को खोलने की याचिका को भले ही हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है. लेकिन इस खूबसूरत इमारत पर विवाद अभी भी थमने की गुंजाइश नहीं लग रही है. अब ताजमहल पर मालिकाना हक का दावा करने वाली जयपुर राजघराने की राजकुमारी सांसद दीया कुमारी (Diya Kumari) को मुगल वंशज प्रिंस तूसी (Prince Tucy) में खुला चैलेंज दिया है.

राजकुमारी दीया के ताजमहल का वारिस होने के बयान पर प्रिंस तूसी ने कहा है कि कोई दस्तावेज दिखा दे तो मैं मान लूंगा. यह केवल हवा में तीर मारा गया है. मुगल सल्तनत, फिर ब्रिटिश हुकूमत और फिर आजाद भारत हुआ. इतने समय में आपको याद नहीं आया कि ताजमहल आपका है? मुगल साम्राज्य में 14 में से 9 रानियां राजपूत थी, ऐसे में आप हमारे रिश्तेदार हुए. अगर आप में एक कतरा भी राजपूताना खून है तो कागजात दिखाइए.

तूसी द्वारा कहा गया है कि अभी एक बीजेपी नेता ने कोर्ट में एप्लीकेशन डाली है. कल को वह कहेंगे कि गुरुद्वारे, चर्च की जांच करवाओ तो क्या होगा? मेरी देश की जनता से अपील है कि ऐसे लोग पब्लिसिटी के लिए और हिंदू और मुसलमान में कॉन्ट्रोवर्सी करना चाहते हैं. ऐसे लोगों की बातों पर ध्यान ना दिया जाए.

कौन है प्रिंस तूसी?

प्रिंस तूसी हैदराबाद के रहने वाले हैं. उनका पूरा नाम प्रिंस याकूब हबीबुद्दीन तूसी है. प्रिंस तूसी खुद को मुगल बादशाह शाहजहां का वंशज बताते हैं. वह दावा करते हैं कि बहादुर शाह जफर की छठी पीढ़ी के हैं. इन्होंने कई सालों पहले अयोध्या की बाबरी मस्जिद और ताजमहल पर मालिकाना हक का दावा किया था, लेकिन न्यायालय ने उसे खारिज कर दिया था. पहले उन्हें आगरा आने पर प्रोटोकॉल मिलता था.

प्रिंस तूसी के ताजमहल आने पर सीआईएसएफ की सुरक्षा अभी भी मिलती है. प्रिंस तूसी ने बताया कि 4 साल पहले उन्होंने हैदराबाद कोर्ट में डीएनए जांच की अपील की थी, उसके बाद उनको मुगल वंशज माना गया है. हालांकि अब राजघराने जैसी व्यवस्थाएं खत्म हो गई हैं, इसलिए उन्हें मुगलिया संपत्ति पर मालिकाना हक नहीं मिल सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here