Ukraine Russia

यूक्रेन रूस (Ukraine Russia) के बीच जारी तनाव बढ़ता जा रहा है पुतिन ने सैनिक कार्रवाई का आदेश दे दिया है. पुतिन ने कहा है कि यूक्रेन की सेना हथियार डाल दे. इसके बाद यूक्रेन के अलग-अलग शहरों से लगातार धमाकों की आवाजें आ रही हैं. पुतिन ने यूक्रेन पर सैनिक कार्रवाई का आदेश देते हुए कहा है कि रूस का कब्जा करने का कोई इरादा नहीं है, लेकिन अगर कोई बाहरी खतरा होता है तो उसका फौरन जवाब दिया जाएगा.

पुतिन ने कहा है कि जो कोई भी हमारे साथ हस्तक्षेप करने की कोशिश करता है या हमारे लोगों के लिए खतरा पैदा करने की कोशिश करता है तो उसे पता होना चाहिए कि रूस की प्रतिक्रिया तत्काल होगी और आपको ऐसे परिणाम की ओर ले जाएगी जैसे आपने अपने इतिहास में कभी अनुभव नहीं किया है. उन्होंने आगे कहा कि यूक्रेन में हमारी योजनाओं में यूक्रेन के क्षेत्र पर कब्जा करना शामिल नहीं है.

रूसी राष्ट्रपति ने कहा है कि युद्ध को टाला नहीं जा सकता. इसलिए रूस स्पेशल मिलिट्री ऑपरेशन लांच कर रहा है. इसका लक्ष्य यूक्रेन पर कब्जा करना नहीं है. उन्होंने यूक्रेन की सेना को कहा है कि वह हथियार डाले और अपने घर जाएं. यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कहा है कि पुतिन ने पूर्ण पैमाने पर आक्रमण शुरू कर दिया है. शांतिपूर्ण यूक्रेन पर हमला हुआ है. यह आक्रामकता का युद्ध है. यूक्रेन इसमें खुद की रक्षा करेगा और जीतेगा. रूसी सेना के यूक्रेन के अंदर आने के बीच यूक्रेन ने अपने देश में इमरजेंसी लगा दी है.

इधर उसकी सैन्य कार्रवाई के बाद यूक्रेन के विदेश मंत्री का बयान आया है. उन्होंने कहा है कि रूस ने हमारे ऊपर हमला कर दिया है. उन्होंने आगे कहा है कि यूक्रेन के शांतिपूर्ण शहरों में हमले किए जा रहे हैं यह युद्ध को लेकर कदम है. यूक्रेन इससे अपनी रक्षा करेगा और जीतेगा. इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि दुनिया को आगे आकर पुतिन को रोकना चाहिए, समय अब करवाई का है.

न्यूज एजेंसी AFP की रिपोर्ट के मुताबिक, यूक्रेन की राजधानी और पूर्वी शहर Mariupol में धमाके की आवाज सुनी गई है. एजेंसी ने कहा कि दोनों शहरों में उसके करसपॉन्डेंट ने तेज धमाकों की आवाज सुनी. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन में ‘सैन्य अभियान’ की घोषणा की. उन्होंने यूक्रेन की सेना से हथियार डालने का आह्वान किया.

रूस की तरफ से यूक्रेन के अंदर राष्ट्रवाद को बढ़ावा देने की कोशिश हो रही है, ताकि सेना और लोगों को सरकार से अलग किया जा सके और यूक्रेन के अंदर सत्ता परिवर्तन किया जा सके. लेकिन क्या ऐसा होगा, यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here