Chitra-Tripathi
फोटो साभार (सोशल मीडिया )

चित्रा त्रिपाठी आज तक चैनल पर एंकरिंग करती हैं. वह खुद ही कहती हैं कि वह बेबाक और निष्पक्ष रिपोर्टिंग के लिए जानी जाती हैं. चुनावी नतीजों को लेकर अपनी राय भी रखती रहती हैं. चित्रा त्रिपाठी अपने शो के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहती हैं. हर मुद्दे पर अपनी राय सोशल मीडिया पर भी रखती हैं.

चित्रा त्रिपाठी आजकल बंगाल चुनाव को लेकर काफी व्यस्त नजर आ रही है. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं इसलिए चित्रा त्रिपाठी अपना शो बुलेट रिपोर्टर पश्चिम बंगाल को लेकर कर रही हैं. अब यहां पर चित्रा त्रिपाठी से कुछ सवाल है.

चित्रा त्रिपाठी बुलेट रिपोर्टर के जरिए आप बंगाल के मुद्दों पर बात करती हैं. आप बुलेट पर चढ़कर बंगाल की गलियों में घूमती हैं. आपके पीछे भाजपा के बड़े नेता बैठे हुए होते हैं. आपकी बुलेट के पीछे भाजपा के समर्थक जय श्रीराम के नारे लगाते हुए भाजपा के झंडे लेकर चलते रहते हैं.

चित्रा त्रिपाठी क्या आपको नहीं लगता कि, आप निष्पक्ष पत्रकारिता की जगह पर भाजपा का चुनाव प्रचार कर रही हैं? आपको नहीं लगता कि, आपका जो कार्यक्रम है बुलेट रिपोर्टर, उसमें सिर्फ और सिर्फ भाजपा का प्रचार होता हुआ दिखाई नहीं देता है आपको?

चित्रा त्रिपाठी भाजपा के नेताओं को, भाजपा के सांसदों को आप बुलेट की सवारी कराती हैं अपने साथ, आप उनसे सवाल भी करती हैं. लेकिन क्या आपको तृणमूल कांग्रेस या फिर कांग्रेस गठबंधन के नेता नहीं मिलते हैं अपने बुलेट रिपोर्टर के लिए, ताकि उन्हें भी आप अपने बुलेट की सवारी करते हुए उनसे भी सवाल पूछ सके?

चित्रा त्रिपाठी आप अपने बुलेट पर बैठकर भाजपा के नेताओं को बिठाकर पश्चिम बंगाल की गलियों में घूमते हुए अपनी बुलेट के पीछे भाजपा के कार्यकर्ताओं को भाजपा के झंडे लेकर घूमने का और नारे लगाते हुए घूमने का मौका देती है और यह भाजपा का चुनाव प्रचार आप के माध्यम से लाइव चलता है आज तक पर.

चित्रा त्रिपाठी जी क्या यही निष्पक्ष पत्रकारिता है आपकी? आप नरेंद्र मोदी और भाजपा की समर्थक हो सकती हैं. हर किसी को अपना खुद का मत देने का अधिकार है, खुद की पार्टी चुनने का अधिकार है. लेकिन आप अगर पब्लिक डोमेन में पत्रकारिता के नाम पर कोई कार्यक्रम कर रही हैं, तो क्या वहां निष्पक्षता जरूरी नहीं है?

अगर आप अपने कार्यक्रम के माध्यम से भाजपा के झंडों को, भाजपा के राजनीतिक नारों को प्रचारित करने का काम जोर शोर से होने दे रही हैं और वह भी अनजाने में नहीं जानबूझकर तो फिर यह निष्पक्ष पत्रकारिता कहां से हुई? अगर आप निष्पक्ष पत्रकारिता करना चाहती हैं तो बुलेट रिपोर्टर के पिछले कुछ शो जो किए हैं आपने, उसके लिए जनता से माफी मांगिये और नहीं तो फिर भाजपा की औपचारिक सदस्यता ग्रहण कर लीजिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here