P Muralidhar Rao

BJP के महासचिव पी मुरलीधर राव (P Muralidhar Rao) ने अपने बयान से विवाद खड़ा कर दिया कि ब्राह्मण और बनिया समुदाय के लोग उनकी ‘जेब’ में हैं. अपने इस बयान के बाद मध्य प्रदेश में पार्टी के प्रभारी राव, विपक्षी दल कांग्रेस (Congress) के निशाने पर आ गए. कांग्रेस ने भाजपा से माफी मांगने की मांग की जबकि बाद में राव ने दावा किया कि विपक्षी दल ने उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया है.

राव ने यहां भाजपा प्रदेश कार्यालय में सोमवार को संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा और उसकी सरकारें अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातियों को वोट बैंक के रुप में नहीं देख रहीं बल्कि उनके पिछड़ेपन, रोजगार और शिक्षा जैसी मूलभूत जरुरतों को दूर करने पर विशेष ध्यान देने जा रही हैं.

इसके बाद पत्रकारों ने राव से पूछा कि भाजपा के बारे में यह आम धारणा रही है कि यह ब्राह्मणों और बनियों की राजनीतिक पार्टी है और अब वह एसटी/एससी वर्ग पर ध्यान देने की बात कर रही है जबकि भाजपा का नारा- सबका साथ, सबका विकास है. इसके उत्तर में राव ने अपने कुर्ते की जेब की तरफ इशारा करते हुए कहा कि ब्राह्मण और बनिया मेरी जेब में हैं…. आपने (मीडिया के लोग) हमें ब्राह्मण और बनिया पार्टी करार दिया जब ज्यादातर कार्यकर्ता और वोट बैंक इन्हीं वर्गो से थे.

राव ने कहा कि भाजपा समाज के सभी वर्गों का विश्वास हासिल करने की दिशा में काम कर रही है. उन्होंने कहा,  जब कुछ वर्गों के लोगों की संख्या अधिक थी तो लोग कहते थे कि पार्टी उनकी है. हम अपनी पार्टी में एससी/एसटी वर्ग के और लोगों को जोड़ने का काम कर रहे हैं क्योंकि उनका प्रतिनिधित्व कम है. हम सभी तक पहुंच रहे हैं और भाजपा को हर वर्ग की पार्टी बना रहे हैं.

राव ने कहा कि भाजपा ब्राह्मण और बनियों सहित किसी भी वर्ग को छोड़ नहीं रही है बल्कि केवल उन लोगों को शामिल कर रही है जिन्हें सही मायने में पहले छोड़ दिया गया था. राव की विवादास्पद टिप्पणी का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आने और विपक्ष के कई नेताओं द्वारा साझा करने के बाद प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने भाजपा पर निशाना साधा. यहां एक बयान में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि भाजपा ने सबका साथ, सबका विकास का नारा दिया और उनकी पार्टी के महासचिव कह रहे हैं ब्राह्मण और बनिया उनकी जेब में हैं.

अपने बयान में कमलनाथ ने कहा, सबका साथ सबका विकास का नारा देने वाली भाजपा के मध्यप्रदेश प्रभारी कह रहे हैं कि हमारी एक जेब में बनिया है, एक जेब में ब्राह्मण है. यह तो इन वर्गों का घोर अपमान है, भाजपा के मुताबिक ये वर्ग उनकी बपौती है, उनकी जेब में हैं.

उन्होंने कहा, जिस वर्ग के नेताओं ने भाजपा को खड़ा करने में अपनी महती भूमिका निभाई है उन वर्गों का यह कैसा सम्मान? भाजपा के नेता सत्ता के नशे व अहंकार में चूर हो गए हैं. भाजपा नेतृत्व इसके लिए इन वर्गो से अविलंब माफी मांगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here