Prashant Kishor

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) का कहना है कि बीजेपी को शिकस्त देने का काम तीसरे मोर्चे से नहीं हो पाएगा. जो भी पार्टी नरेंद्र मोदी को हराना चाहती है उसे खुद को दूसरे विकल्प के तौर पर प्रस्तुत करना होगा. प्रशांत का कहना है कि कांग्रेस अभी ऐसा करने की स्थिति में नहीं है.

प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने आगे कहा कि, लेकिन इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि गांधी परिवार की देखरेख में चल रही पार्टी देश का दूसरा सबसे बड़ा राजनीतिक दल है. सारे देश में इसका ढांचा मौजूद है. एक इंटरव्यू में प्रशांत ने कहा कि दूसरे नंबर का दल ही बीजेपी को हरा सकता है. कोई भी तीसरा या चौथा मोर्चा ऐसा करने में सक्षम नहीं हो सकता. उनका कहना था कि राज्यों के चुनाव परिणाम का 2024 के आम चुनाव से कोई संबंध नहीं है.

एक सवाल के जवाब में प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने कहा कि वह यह बताने की स्थिति में नहीं है कि 2024 में प्रधानमंत्री मोदी को कौन चुनौती दे सकता है. आज के हालात को देखकर यह अनुमान लगाना बेहद मुश्किल है. हालांकि प्रशांत किशोर का कहना था कि ऐसा नहीं है कि मोदी को चुनौती नहीं दी जा सकती. लेकिन अभी यह नहीं कहा जा सकता कि कौन सा नेता उन्हें प्रधानमंत्री की कुर्सी से हटा सकता है.

प्रशांत किशोर ने कहा कि अगर हम 1980 में बैठकर वीपी सिंह के बारे में बात करते तो क्या कहा जा सकता था कि वह राजीव गांधी को चुनौती देने की स्थिति में होंगे? 1965 में क्या बता सकते थे कि राजनारायण कभी इंदिरा गांधी को कुर्सी से हटा सकते हैं? ऐसे ही आज के समय यह कह पाना मुश्किल भरा है.

कांग्रेस दे सकती है चुनौती

प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) का कहना है कि कांग्रेस बीजेपी को चुनौती दे सकती है. लेकिन इसके लिए उन्हें बदलाव करने होंगे. यह नहीं कहा जा सकता कि 2024 में कांग्रेस चुनौती पेश नहीं कर सकती. प्रशांत किशोर से सवाल किया गया था कि क्या वह ममता बनर्जी को थर्ड फ्रंट के नेता के तौर पर तैयार कर रहे हैं? आपको बता दें कि कांग्रेस के साथ प्रशांत किशोर की कई बैठकें हुई थी, लेकिन बाद में उन्होंने पार्टी में शामिल होने से इनकार कर दिया था.

हालांकि प्रशांत किशोर ने यह भी कहा था कि अगर गांधी परिवार की तरफ से उन्हें बुलावा आएगा तो वह जरूर बात करेंगे. फिलहाल कांग्रेस को उनसे कहीं ज्यादा अपने सुधारों पर अमल करने की जरूरत है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here