Prince of Arabia

पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ बीजेपी नेत्री और प्रवक्ता नूपुर शर्मा की टिप्पणी से सऊदी अरब के प्रिंस फैसल बिन फरहान अल सऊद नाराज थे. सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने भारतीय राजदूत को तलब कर शिकायत भी दर्ज कराई थी. इतना ही नहीं कुवै,त बहरीन, कतर, ओमान और ईरान जैसे देशों मे भी भारतीय राजदूतों के समकक्ष उनके बयान पर आपत्ति दर्ज कराई गई थी.

इस्लामिक देशों की नाराजगी के बाद ही बीजेपी ने नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया. बीजेपी की ओर से इस कार्रवाई के बाद सऊदी के विदेश मंत्रालय की ओर से ट्वीट किया गया है. इस ट्वीट में कहा गया है कि भारत के सत्ताधारी दल भाजपा की प्रवक्ता की ओर से पैगंबर मोहम्मद का अपमान करने वाली टिप्पणी की हम कड़ी निंदा करते हैं. इससे पता चलता है कि उनका इस्लाम के प्रतीकों को लेकर कैसा पूर्वाग्रह रहा है.

इसके अलावा सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय की ओर से लिखा गया है कि हम भारत की कार्रवाई का भी स्वागत करते हैं. जिसके तहत प्रवक्ता को उनके पद से हटा दिया गया है. सऊदी के विदेश मंत्रालय ने कहा हम यह संकल्प दोहराते हैं कि सभी धर्मों और आस्थाओं का सम्मान किया जाना चाहिए.

बहिष्कार की दी थी धमकी

जब बीजेपी की राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने टीवी शो में पैगंबर मोहम्मद के संबंध में आपत्तिजनक टिप्पणी की थी तो इसका असर सीमा पर खाड़ी और अरब देशों में देखा गया. ओमान के मुख्य मुफ्ती ने मुस्लिम देशों के साथ पूरी दुनिया के मुसलमानों से इसका प्रतिकार करने के लिए उठ खड़ा होने की अपील की. खाड़ी देशों में इस टिप्पणी के खिलाफ भारतीय सामानों के बहिष्कार की अपील की गई. इसी बीच गेहूं के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मची मारामारी के बीच जब तुर्की के बाद मिश्र ने भारतीय गेहूं को दूसरा कारण गिनाते हुए स्वीकार करने से मना कर लिया तब सरकार हरकत में आई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here