santosh gangwar

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सब कुछ ठीक है का दावा कर रही है. लेकिन भाजपा के नेता ही व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं. केंद्रीय मंत्री और बरेली से सांसद संतोष गंगवार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर अपने संसदीय क्षेत्र की स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर चिंता जताई है.

संतोष गंगवार ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में बरेली के चिकित्सा विभाग के अधिकारियों पर आरोप लगाया है कि वह फोन नहीं उठा रहे हैं. योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में गंगवार ने कहा है कि ऐसे मामले सामने आ रहे हैं कि रेफर किए जाने के बाद भी मरीज जब सरकारी अस्पताल जा रहा है तो उससे दोबारा जिला अस्पताल से रेफर कराकर आने को कहा जा रहा है.

उन्होंने लिखा है कि इससे कई मरीजों की हालत और बिगड़ रही है. उन्होंने इसे लेकर चिंता जताई है और कहा है कि संक्रमित मरीज को कम से कम समय रेफरल अस्पतालों में भर्ती किया जाए. केंद्रीय मंत्री ने जरूरी उपकरणों को बाजार में डेढ़ गुना अधिक दाम पर बेचे जाने की शिकायत भी की है और अपील किया है कि इनकी कीमत का निर्धारण सरकार करें.

गंगवार ने संक्रमितो को बरेली के निजी अस्पतालों में भर्ती कराए जाने के प्रबंध का आग्रह किया है और कहा है कि निजी अस्पतालों को भी कोरोना अस्पताल को दी जाने वाली सुविधाएं दी जाए. उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे अपने पत्र में बरेली में ऑक्सीजन की किल्लत का मुद्दा भी उठाया है.

उन्होंने मध्यप्रदेश का उदाहरण देते हुए यह सुझाव भी दिया है कि सरकारी और कुछ निजी अस्पतालों को 50 फ़ीसदी कम कीमत पर ऑक्सीजन संयंत्र जल्द दिए जाएं. वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने के लिए आयुष्मान भारत योजना से जुड़े सभी अस्पतालों में वैक्सीनेशन शुरू कराने का भी सुझाव दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here