Ragini Nayak
फोटो साभार (सोशल मीडिया)

भाजपा प्रवक्ता अक्सर टीवी डिबेट में विपक्षी पार्टी के प्रवक्ताओं से कुतर्क करते हुए नजर आ जाते हैं. टीवी डिबेट में अधिकतर देखने को मिलता है कि भाजपा प्रवक्ताओं के पास तर्कों पर तथ्यात्मक जवाब नहीं होते हैं और उसके बाद भाजपा के प्रवक्ता कुतर्क पर उतारू हो जाते हैं.

पिछले 7 साल से यही देखने को मिल रहा है कि चाहे वह कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता हो या फिर दूसरी किसी विपक्षी पार्टी के प्रवक्ता हो, भाजपा के प्रवक्ता उन पर हमेशा हावी होते हैं. उसका एक कारण यह भी होता है कि डिबेट को संचालित कर रहा एंकर भी भाजपा समर्थक होता है.

भाजपा के प्रवक्ताओं को पता होता है कि वह कुतर्क करके चले जाएंगे लेकिन एंकर उन्हें अपनी तरफ से टोकेगा नहीं, अपनी तरफ से कड़े सवाल करेगा नहीं. भाजपा के प्रवक्ताओं को पता है कि गोदी मीडिया भाजपा के साथ है, इसलिए भाजपा के प्रवक्ता विपक्षी पार्टी के प्रवक्ताओं को कुछ भी बोल कर निकल जाते थे.

पिछले कुछ समय से देखने को मिल रहा है कि कांग्रेस के प्रवक्ताओं ने भाजपा के प्रवक्ताओं को मुंहतोड़ जवाब दिया है. भाजपा के प्रवक्ताओं को उन्हीं की भाषा में जवाब देना कांग्रेस के प्रवक्ताओं ने शुरू किया है, चाहे वह पवन खेड़ा हो, सुप्रिया श्रीनेत हो या फिर रागिनी नायक, यह भाजपा के प्रवक्ताओं की बोलती बंद करने में माहिर है. देश में महामारी को लेकर जो संकट छाया हुआ है उसको लेकर न्यूज़ 24 पर डिबेट चल रही थी.

भाजपा की तरफ से राजीव जेटली भाजपा प्रवक्ता के तौर पर आए हुए थे. उन्होंने रागिनी नायक को कहा कि आप सोनिया जी को माताजी कहती हो या फिर आंटी जी कहती हो. जो भी कहती हो, आप उनसे कहिए कि प्रधानमंत्री जी गंभीरता से लड़ाई लड़ रहे हैं, हमारे मुख्यमंत्रियों से सहयोग कर रहे हैं. तो आप बेकार की राजनीति में ना पड़े.

रागिनी नायक ने तुरंत भाजपा के प्रवक्ता राजीव जेटली को बीच में टोंकते हुए कहा कि आप मोदी जी को क्या कहते हैं? फकीर कहते हैं? प्रचारजीवी कहते हैं? या फिर संबित पात्रा की तरह बाप? रागिनी नायक ने कहा कि मोदी जी खुद अपने आप को फकीर कहते हैं. आप उन्हें फकीर कहते हैं या संबित पात्रा की तरह अपना बाप कहते हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here