Rahul Gandhi

नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी से आज लगातार दूसरे दिन भी प्रवर्तन निदेशालय की पूछताछ होगी. राहुल से सोमवार को करीब 10 घंटे पूछताछ हुई. वह रात तक ईडी के दफ्तर थे. इस दौरान ईडी दफ्तर के बाहर कांग्रेसियों की भीड़ लगी रही. सोमवार को राहुल से पहले सुबह 3 घंटे तक सवाल हुए. इसके बाद लंच ब्रेक के दौरान राहुल सोनिया से मिलने अस्पताल पहुंचे. यहां से एक बार फिर ईडी दफ्तर गए, जहां उनसे दूसरे दौर की पूछताछ हुई.

राहुल गांधी से करीब 9 घंटे तक पूछताछ चली. राहुल ने देर रात तक हो रही पूछताछ के दौरान ईडी के अफसर से कहा कि क्या रात को यहीं रोकने का इरादा है? यदि हां, तो मैं डिनर के बाद आऊं.

खबरों के अनुसार राहुल गांधी सुरक्षाकर्मियों के साथ असिस्टेंट डायरेक्टर रैंक के जांच अधिकारी के पास ले जाए गए थे. रास्ते में राहुल गांधी ने साथ चल रहे हैं सुरक्षाकर्मियों से उनका नाम पूछा. साथ ही यह भी कि आप कितने दिनों से यहां कार्यरत हैं? क्या जांच के लिए आने वाले हर शख्स को इसी तरह जांच अधिकारी के पास तक ले जाते हैं? यह सुनकर सुरक्षाकर्मी और ईडी कर्मचारी मुस्कुरा कर रह गए, उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया.

खबरों के मुताबिक राहुल गांधी को पानी दिया गया उनसे चाय और कॉफी के बारे में पूछा गया. उन्होंने हर चीज के लिए मना कर दिया. एक बार भी अपना मास्क नहीं हटाया. राहुल गांधी ने जांच अधिकारी से उनका नाम और पद के बारे में भी पूछा. राहुल गांधी ने अधिकारियों से कहा यहां कांग्रेस नेताओं से ही केवल सवाल जवाब होता है या किसी और को भी आप लोग बुलाते हैं? हालांकि अधिकारी ने इस पर कोई जवाब नहीं दिया.

कांग्रेस ने सरकार पर ईडी के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए देशभर में जांच एजेंसियों के दफ्तरों के बाहर विरोध प्रदर्शन किया तथा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी. ईडी के समन पर राहुल बहन प्रियंका तथा कांग्रेस के दूसरे नेताओं के साथ एजेंसी के मुख्यालय पर पहुंचे. कानूनी औपचारिकताओं के बाद 11:30 बजे के करीब राहुल से पूछताछ शुरू हुई. मंगलवार को भी राहुल गांधी को बुलाया गया है.

7 एसयूवी के काफिले में राहुल गांधी ईडी दफ्तर पहुंचे थे. प्रियंका गांधी उनके साथ एक ही गाड़ी में बैठी थी. वर्ष 2019 में एसपीजी सुरक्षा वापस ले जाने के बाद से राहुल जेड प्लस सुरक्षा घेरे में रहते हैं. वहीं दिल्ली में अशोक गहलोत, मल्लिकार्जुन खड़गे, जयराम रमेश, दिग्विजय सिंह, रणदीप सुरजेवाला समेत कई नेताओं को विरोध के दौरान हिरासत में लिया गया. इसमें 26 सांसद और 5 विधायक शामिल हैं.

सुब्रमण्यम स्वामी का दावा

बीजेपी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने दावा किया है कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी को 22 से 25 साल तक की सजा हो सकती है उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी तो गई सोमवार को नेशनल हेराल्ड मामले में ईडी के समन पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बीजेपी नेता ने कहा कि कोई समाधान नहीं है क्योंकि money-laundering के तहत ईडी की सजा बहुत सख्त है उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और सोनिया गांधी को लंबी सजा होगी सुब्रमण्यम स्वामी के इस दावे पर सोशल मीडिया पर उन्हें बुरी तरीके से ट्रोल किया गया.

कुछ लोगों का कहना है कि सुब्रमण्यम स्वामी इसी तरीके से किसी पर भी कुछ भी आरोप लगा देते हैं. ना ही डाटा ना तारीख सजा फटाफट? कुछ लोगों ने सुब्रमण्यम स्वामी को कहा कि अफवाह फैलाना गंभीर अपराध है. आपको बता दें कि यह पूरा मामला 2012 में सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा ही दर्ज कराया गया था. सुब्रमण्यम स्वामी के अधिकतर आरोप आज तक राजनीतिक ही साबित हुए हैं. हालांकि जिस तरीके से सुब्रमण्यम स्वामी ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया था उसी तरीके से आरोप वह बीजेपी के नेताओं पर भी अप लगाते हैं, लेकिन ईडी के द्वारा उनसे पूछताछ नहीं होती.

इससे पहले सोमवार को राहुल सुबह पूरे दमखम के साथ ED दफ्तर गए. अफसरों ने उनसे 50 से ज्यादा सवाल किए. इससे पहले कांग्रेस ने इस कार्यवाही का जमकर विरोध किया. सुबह से पार्टी के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में जगह-जगह राहुल गांधी के पोस्टर लगा दिए थे, जिस पर लिखा था यह राहुल गांधी है झुकेगा नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here