Rajesh yadav

जब भी किसी गाने या डांस का कोई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल (Video viral on social media) होता है तो लोग अक्सर उस वीडियो के कैरेक्टर की तारीफ में लग जाते हैं. लेकिन वायरल होने की यह संस्कृति सरकारी कर्मचारियों के लिए महंगी पड़ जाती है. यूपी के प्रतापगढ़ जिले के दरोगा को भी पब्लिक में डांस करना महंगा पड़ गया है.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें सांगीपुर थाने के दरोगा एक महिला डांसर के साथ झूमते हुए नजर आ रहे हैं. दरोगा राजेश कुमार यादव का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ. वीडियो में एक महिला डांसर के साथ “छम्मक छल्लो जरा धीरे चलो” गाने पर डांस करते नजर आ रहे हैं. बाद में खबर आई कि महिला डांसर का हाथ पकड़कर झूम रहे दरोगा को सस्पेंड कर दिया गया है. उनके खिलाफ अब जांच भी शुरू कर दी गई है.

सोशल मीडिया पर लोगों ने दरोगा के इस वीडियो पर सभी तरह की प्रतिक्रिया दी है. कुछ ने इसे अश्लील बताया, अनुशासन का पाठ सिखाया तो कुछ लोगों ने बचाव भी किया. कुछ लोगों का कहना था कि निजी जीवन सभी का होता है, लेकिन समाज में जो ऐसे पदों पर होते हैं जो कि समाज के लिए महत्वपूर्ण स्थान होता है, उन्हें अपने पद की गरिमा बनाए रखना और अपने आपको उदाहरण स्वरूप प्रस्तुत करना होता है.

उधर प्रतापगढ़ पुलिस ने पूरे मामले को लेकर एक प्रेस नोट जारी किया है. इसमें बताया गया है कि 2 जून को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें सादे कपड़े में एक व्यक्ति आर्केस्ट्रा के मंच पर डांस कर रहा है. प्रतापगढ़ एसपी सतपाल सतपाल अंतिल ने लालगंज सीओ को इसकी जांच करने का आदेश दिया. पता चला कि डांस कर रहा व्यक्ति सांगीपुर थाना के दरोगा राजेश कुमार यादव ही हैं.

पुलिस की तरफ से बताया गया है कि वायरल हो रहा वीडियो गाजीपुर का है. राजेश यादव बिना अनुमति के वहां गए थे. जो वीडियो वायरल हुआ है वह एक तिलक समारोह का है. पुलिस के मुताबिक जांच में राजेश यादव दोषी पाए गए, इसलिए एसपी ने उन्हें तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया. एसपी ने कहा कि यह उनकी अनुशासनहीनता को दिखाता है. दरोगा के खिलाफ विभागीय जांच भी की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here