Rajnath Singh on Pandit Jawaharlal Nehru

कारगिल विजय दिवस के मौके पर भारतीय सेना के जवानों की शहादत को याद किया गया. इस मौके पर जम्मू-कश्मीर में आयोजित एक कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) भी शामिल हुए. इस दौरान उन्होंने ऐसा कुछ कहा जो बीजेपी के नेताओं की तरफ से सुनने को नहीं मिलता. बीजेपी के नेता अक्सर अपने और अपनी पार्टी के बचाव में गांधी नेहरू परिवार, खास तौर पर देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु (Pandit Jawaharlal Nehru) की आलोचना करते रहते हैं. लेकिन राजनाथ सिंह ने ठीक इसके विपरीत बयान दिया है.

Rajnath Singh ने क्या कहा?

अपने संबोधन में राजनाथ सिंह ने कहा है कि चीन ने 1962 में लद्दाख में हमारे इलाके पर कब्जा कर लिया था. तब पंडित जवाहरलाल नेहरू हमारे प्रधानमंत्री थे. मैं उनकी नियत पर सवाल नहीं उठाऊंगा. उनकी नीति गलत हो सकती है नियत नहीं. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि, पंडित जवाहरलाल नेहरू हमारे भारत के प्रधानमंत्री थे. बहुत सारे लोग पंडित जवाहरलाल नेहरू की आलोचना करते हैं. मैं भी एक विशेष राजनीतिक दल से आता हूं, मैं भारत के किसी भी प्रधानमंत्री की आलोचना नहीं करना चाहता.

इसके अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 1948 में पहली बार भारतीय सेना ने पाकिस्तान के नापाक इरादों को नाकाम किया और आज जो जम्मू और कश्मीर का स्वरुप हम देख रहे हैं उसे बनाने में उनका बड़ा योगदान रहा है. राजनाथ सिंह ने कहा कि 1965 और 1971 की लड़ाई में बुरी तरह परास्त होने के बाद पाकिस्तान ने सीधी जंग का रास्ता छोड़कर प्रॉक्सी वार का रास्ता पकड़ लिया.

आपको बता दें कि बीजेपी के ज्यादातर नेता देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु की आलोचना करते रहते हैं. कश्मीर के लिए भी वह पंडित जवाहरलाल नेहरू को दोषी मानते हैं तथा चीन के मुद्दे पर भी अक्सर पंडित जवाहरलाल नेहरू को दोष देते हैं. लेकिन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जो बयान दिया है वह अपनी पार्टी की लाइन से हट कर दिया है. शायद उनका यह बयान बीजेपी के कई नेताओं को असहज कर सकता है.

प्रधानमंत्री मोदी भी कई मौकों पर देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु की आलोचना कर चुके हैं. कश्मीर मुद्दे को लेकर भी वह कई बार उनकी आलोचना कर चुके हैं. लेकिन राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी के बयान के विपरीत बयान दिया है. यह कहीं ना कहीं दर्शाता है कि राजनाथ सिंह के अंदर देश के प्रथम प्रधानमंत्री को लेकर सम्मान है. इससे पहले भी राजनाथ सिंह कई मौकों पर देश के प्रथम प्रधानमंत्री की सराहना कर चुके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here