Rakesh Tikait News

इस वक्त उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Elections 2022) के छठे चरण में 10 जिलों की 57 सीटों के लिए गुरुवार को मतदान हो रहा है, जहां कुल 676 प्रत्याशी मैदान में हैं. छठे चरण में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित आधे दर्जन मंत्री मैदान में है. वही बीजेपी बसपा छोड़कर सपा का दामन थामने वाले कई दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर है.

इन सबके बीच भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता और किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि काउंटिंग से 1 दिन पहले किसान ट्रैक्टर लेकर मतगणना केंद्रों पर डेरा डाले. राकेश टिकैत को धांधली का डर सता रहा है.

इसके अलावा किसान नेता राकेश टिकैत ने यूक्रेन से स्वदेश वापस आ रहे छात्रों को लेकर मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि भारत सरकार यूक्रेन से आ रहे लोगों में अपना वोट तलाश रही है, उन्हें अपने पक्ष में बयान दल बाती है. उन्होंने कहा कि भारत सरकार यूक्रेन युद्ध पर भी छात्रों में अपना वोट तलाश रही है.

आपको बता दें कि भारतीय छात्रों की वापसी को लेकर रूस ने बुधवार को यूक्रेन पर गंभीर आरोप लगाए. रूस ने कहा कि यूक्रेन भारतीय छात्रों को बंधक बनाकर मानव ढाल के रूप में इस्तेमाल कर रहा है. हालांकि 3 मार्च को भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्विटर पर जानकारी दी थी कि मंत्रालय यूक्रेन में भारतीयों के साथ संपर्क में बना हुआ है. किसी भारतीयों को बंधक बनाने की जानकारी नहीं मिली है.

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आ जाएंगे. 10 मार्च को पता चल जाएगा कि किसान आंदोलन का असर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कितना रहा. बीजेपी को फिर से सरकार बनाने का मौका मिलता है या फिर जनता उसके हाथ से सत्ता वापस ले लेती है. लेकिन राकेश टिकैत ने काउंटिंग से 1 दिन पहले ही किसानों को ट्रैक्टर लेकर मतदान केंद्रों पर डेरा डालने के लिए कहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here