Randeep Surjewala

भारत में कोरोना वायरस (Corona virus) के नए मामलों की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है. रोज मरीजों की संख्या में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हो रही है. पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 3.8 लाख नए मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य मंत्री की ओर से गुरुवार सुबह जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 3,79,257 नए कोविड-19 के केस दर्ज हुए हैं.

इस दौरान 3,645 मरीजों ने दम तोड़ा है. कोरोना मामले और कोरोना से होने वाली मौतों का यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. अभी भी देश में ऑक्सीजन (Oxygen) की किल्लत बनी हुई है. हॉस्पिटल्स (Hospitals) में मरीज अभी भी लाचार हैं, उन्हें सुविधाएं नहीं मिल रही है. यह वायरस अब धीरे-धीरे गांवों तक फैल चुका है. उत्तर प्रदेश में भी स्थिति बद से बदतर बनी हुई है.

देश के तमाम राज्य इस समय लाचार नजर आ रहे हैं. मरीजों के परिजन अभी भी लाचार नजर आ रहे हैं, अपनों को बचाने की जंग लड़ रहे हैं. अपनों को बचाने के लिए कभी अधिकारियों के सामने तो कभी किसी के सामने रो रहे हैं, गिड़गिड़ा रहे हैं, पैरों पर गिर रहे हैं. लेकिन बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था के शिकार लगातार मरीज हो रहे हैं.

इन सब के बीच मोदी सरकार पर लगातार आरोप लग रहे हैं कि वह इस महामारी से लड़ने में पूरी तरीके से नाकाम साबित हुई है और यह सच्चाई भी है. 1 साल का समय मिला था सरकार चाहती तो हर सुविधा मुहैया करा सकती थी. 1 साल में तमाम तैयारियां पूरी की जा सकती थी. लेकिन सरकार कई राज्यों के विधानसभा चुनाव के प्रचार में व्यस्त थी. प्रधानमंत्री से लेकर गृहमंत्री तक प्रचार में व्यस्त थे. मीडिया भी सवाल नहीं कर रही थी और नहीं कर रही है.

इन सबके बीच रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री पर बड़ा हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट करके कहा है कि, क्योंकि लोगों की जान से संसद की इमारत व प्रधानमंत्री का दफ़्तर ज़्यादा ज़रूरी है. सरकारी ख़ज़ाने से ₹20,000 करोड़ खर्चेंगे तभी तो उदघाटन पट पर मोदी जी का नाम कैसे लिखा जाएगा. देश का क्या है- वो तो हिंदू-मुस्लिम, पटेल-ग़ैर पटेल, जाट-ग़ैर जाट आदि में बंट ही जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here