ravish kumar

मोदी सरकार (Modi government) पर लगातार आरोप लग रहा है कि मोदी सरकार महामारी से निपटने से अधिक अपने आलोचकों पर नजर रखे हुए हैं. मोदी सरकार पर महामारी को लेकर सतर्कता न बरतते हुए लगातार चुनावी रैलियां करते रहने का भी आरोप लगा था.

मोदी सरकार पर यह भी आरोप लगा है कि महामारी से एक रणनीति के तहत निपटने की बजाय मोदी सरकार अभी भी मीडिया मैनेज (Media management) करके अपनी छवि बचाने में लगी हुई है. मोदी सरकार के मंत्री अभी भी प्रचार-प्रसार के सहारे देश को मूर्ख बनाने में लगे हुए हैं.

देश के जाने-माने पत्रकार रवीश कुमार ने भी इसको लेकर मोदी सरकार को निशाने पर लिया है. रवीश कुमार ने कहा है कि हमारे दौर के इसने नरसंहार की जिम्मेदारी कौन लेगा? यहां एक-एक सांस के लिए लोग तड़प रहे हैं अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी से तमाम लोगों की मौत हो गई.

रवीश कुमार ने कहा कि यूट्यूबर राहुल वोहरा ने पीएम मोदी और मनीष सिसोदिया को टैग करते हुए अपनी आखिरी पोस्ट में यही लिखा कि उन्हें अच्छा इलाज मिलता तो शायद वह बच जाते. अस्पताल में लापरवाही हुई या नहीं यह साबित करना मुश्किल है. लेकिन राहुल की पत्नी ने एक वीडियो पोस्ट किया था जो हजारों मरीजों के दर्द की कहानी बयां करता है.

इसके अलावा रवीश कुमार ने अपनी फेसबुक पोस्ट में रेल मंत्री पीयूष गोयल पर निशाना साधते हुए लिखा है कि रेल मंत्री पीयूष गोयल आए दिन एक वीडियो ट्वीट करते हैं कि उनकी रेल यहां से ऑक्सीजन लेकर वहां जा रही है. लगता है उनकी रेल ऑक्सीजन लेकर तिरुपति के अस्पताल नहीं पहुंची जहां 11 लोग मर गए. ऑक्सीजन की सप्लाई कम हो गई थी यह नरसंहार नहीं तो क्या है? नरसंहार ही है.

बता दें कि ऑक्सीजन की किल्लत अभी भी बनी हुई है. अभी भी लोग ऑक्सीजन के लिए दर-दर भटक रहे हैं. अपनों को बचाने की जंग अभी भी लोग लड़ रहे हैं. तिरुपति के अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई कम हो गई थी जिसके कारण 11 लोगों की मौत हो गई है. मीडिया भी इन खबरों को लेकर मोदी सरकार से सवाल नहीं कर रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here