Satya Pal Malik news

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satya Pal Malik) ने एक बार फिर से केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री मोदी पर जबरदस्त निशाना साधा है. उन्होंने रविवार को कहा कि देश के किसानों को हराया नहीं जा सकता और जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं हो जाती तब तक वह अपना विरोध जारी रखेंगे. उन्होंने कहा कि एमएसपी इसलिए लागू नहीं किया जा रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री के एक दोस्त हैं जिनका नाम अडानी है, वह पिछले 5 साल में एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं.

सत्यपाल मलिक ने कहा कि अगर एमएसपी लागू नहीं किया गया और एमएसपी पर कानूनी गारंटी नहीं दी गई तो एक और लड़ाई होगी और इस बार यह एक भयंकर लड़ाई होगी. आप इस देश के किसानों को नहीं हरा सकते. आप उसे डरा नहीं सकते. क्योंकि आप ED या आयकर अधिकारी नहीं भेज सकते तो आप किसान को कैसे डराएंगे? उन्होंने कहा कि गुवाहाटी हवाई अड्डे पर मैं एक गुलदस्ता पकड़े एक महिला से मिला. जब मैंने उससे पूछा कि वह कहां से है, तो उसने जवाब दिया कि हम अडानी की तरफ से आए हैं.

सत्यपाल मलिक ने कहा कि मैंने उस महिला से पूछा इसका क्या मतलब है, उन्होंने कहा यह हवाई अड्डा अडानी को सौंप दिया गया है. अडानी को हवाई अड्डे, बंदरगाह, प्रमुख योजनाएं दी गई हैं और एक तरह से देश को बेचने की तैयारी है. लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे. उन्होंने आगे कहा कि पानीपत में अडानी ने एक बड़ा गोदाम बना लिया है और सस्ते दामों पर खरीदे गए गेहूं से उसका स्टॉक कर लिया है.

सत्यपाल मलिक ने कहा कि, जब महंगाई होगी तो वह उस गेहूं को बेच देंगे. ऐसे प्रधानमंत्री के दोस्त मुनाफा कमाएंगे और किसानों को नुकसान होगा. इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और इसके खिलाफ लड़ाई लड़ी जाएगी. उन्होंने अपनी पुरानी बात को दोहराते हुए कहा कि, उन्होंने प्रधानमंत्री से मुलाकात की थी और कहा- मैंने देखा कि किसान दिल्ली की सीमाओं पर बैठे थे. मैंने प्रधानमंत्री से कहा कि उनमें से प्रत्येक व्यक्ति 40 गांव का मुखिया था. 700 किसान मारे गए जब एक कुत्ता मर जाता है तो दिल्ली से एक शोक संदेश भेजा जाता है. किसानों के लिए कोई शोक संदेश नहीं भेजा गया.

आपको बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा ने आज दिल्ली के जंतर मंतर पर किसान महापंचायत का ऐलान किया है. महापंचायत में शामिल होने के लिए अलग-अलग राज्यों से किसानों का जत्था दिल्ली पहुंच रहा है. हालांकि दिल्ली पुलिस ने इसकी अनुमति नहीं दी है. किसानों की महापंचायत को देखते हुए दिल्ली की सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. किसानों की महापंचायत को देखते हुए सिंघु बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस की ओर से सुरक्षा बढ़ा दी गई है. संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से आयोजित महापंचायत को लेकर टिकरी बॉर्डर समेत सीमावर्ती इलाकों में पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here