Rohini Singh yogi

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा दिया गया विज्ञापन विवादों के घेरे में है. हालांकि इंडियन एक्सप्रेस ने इसे अपनी गलती माना है. लेकिन सोशल मीडिया पर लोगों का कहना है कि सरकार के दबाव में इंडियन एक्सप्रेस ने आगे आकर सरकार को बचाने के लिए खुद को गलत बताया है.

इंडियन एक्सप्रेस की तरफ से कहा गया है कि यह विज्ञापन विभाग की गलती के चलते हुआ है और इस विज्ञापन को डिजिटल प्लेटफॉर्म से हटा दिया गया है. जब से इंडियन एक्सप्रेस में योगी सरकार द्वारा दिया गया विज्ञापन आया है उसके बाद से ही योगी सरकार की खिल्ली उड़ाई जा रही है सोशल मीडिया पर.

इस विज्ञापन के बाद सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश सरकार का मजाक उड़ाया जाने लगा. उसके बाद शाम को योगी आदित्यनाथ ने ट्विटर के माध्यम से मुद्दे को डाइवर्ट करने की कोशिश की और कांग्रेस को आतंकवाद की जननी बताया. इसके बाद कुशीनगर में अब्बा जान जैसे शब्दों का इस्तेमाल करके ध्रुवीकरण करने की कोशिश की.

वरिष्ठ पत्रकार रोहिणी सिंह (Rohini Singh) ने योगी आदित्यनाथ को लेकर इसी मुद्दे पर एक ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है कि, कल इंडियन एक्सप्रेस अखबार में ‘विकास की चोरी’ पकड़े जाने पर योगीजी की हताशा उनके शब्दों में दिख रही थी. जो क्रोध पर नियंत्रण न कर सके वो योगी कैसे हुआ?

रोहिणी सिंह (Rohini Singh) ने आगे लिखा है कि, क्रोध विवेक निगल जाता है, विवेकहीनता आपको तर्कहीन बनाती है और नफरत में सने हुए तर्कहीन बयान आपको एक हताश और चिड़चिड़ा व्यक्ति.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here