Smriti Irani twitt

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने शनिवार 17 सितंबर को अपने 72वें जन्मदिन पर नामीबिया से आए 8 चीतों (Cheetah) में से 3 को मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में छोड़ा. शनिवार को दिन भर इसी को लेकर खबरें पूरे मीडिया में छाई रही. सोशल मीडिया पर भी बीजेपी की तरफ से कोशिश की गई कि सिर्फ इसी पर चर्चा हो और इसे एक बड़े इवेंट में प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से तब्दील किया गया. कूनो नेशनल पार्क में प्रधानमंत्री मोदी ने चीता मित्रों से बातचीत के दौरान कहा कि जब तक चीतों का समय पूरा नहीं होता किसी को यहां घुसने मत देना.

इसके अलावा उनसे प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं आऊं या मेरे नाम से कोई रिश्तेदार भी आए तो उसे भी घुसने मत देना. मीडिया वाले आएंगे और दबाव डालेंगे लेकिन किसी को अंदर घुसने मत देना. उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी समस्या नेता मंत्री होते हैं. प्रधानमंत्री मोदी का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ. इससे पहले जब उन्होंने चीतों को पार्क में छोड़ा उसके फोटोग्राफ्स भी खूब वायरल किए गए. इसके अलावा कई तरह की वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुए.

इसी को लेकर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने एक ट्वीट किया. दरअसल स्मृति ईरानी ने अपने ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री मोदी को उनके जन्मदिन पर बधाई दी. इसके साथ एक वीडियो शेयर किया और उन्होंने लिखा कि, जब शेर ने अपना जन्मदिन चीतों के साथ मनाया.

स्मृति ईरानी के ट्वीट पर कई यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रिया दी. राज पाटिल नामक ट्विटर यूजर ने स्मृति ईरानी के ट्वीट पर कमेंट करते हुए लिखा कि, जरा कैमरे वाले शेर को कहिए, चुनावों में वोट बेरोजगार युवा और उनके परिवारों से लिए हैं, कभी किसी चौराहे पर उनके साथ भी जन्मदिन का आनंद लें.

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को जवाब देते हुए सतीश शर्मा नामक ट्विटर यूजर ने लिखा कि, जब चीन डोकलाम में घुस कर बैठा था तब यही फर्जी शेर कह रहा था कि ना कोई घुसा ना ही कोई घुसा हुआ है. प्रचार तंत्र के सहारे एक डरपोक और निकम्मे आदमी को विष्णु का अवतार बता दोगे तो कोई कैसे मान लेगा? जनता को अंधा समझती हो क्या?

अभी नामक ट्विटर यूजर ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के ट्वीट पर उनकी खिंचाई करते हुए लिखा कि, मैडम आप के संसदीय क्षेत्र में क्या 24 घंटे लाइट मिल रही है? सड़को का क्या हाल है, गांव की नालियां कैसी है, खबर है आप को? मैं गौरीगंज वार्ड नं. 20 से बोल रहा हूं. यहां हाल है. सत्यमेव जयते नामक यूजर ने लिखा कि, जाली के पीछे से शेर ने चीते के साथ जन्मदिन मनाया. वैसे, तथाकथित शेर के गॉगल, टोपी, हेट और जैकेट की कीमत नहीं बताई?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here