Priyanka Gandhi 2022

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) यूपी में पार्टी के चुनाव अभियान का एक तरह से आगाज कर चुकी है. यूपी के दौरे पर आईं प्रियंका गांधी कार्यकर्ताओं के साथ मुलाकात कर रही हैं तो वहीं नेताओं, कार्यकर्ताओं के साथ फोटो खींचवाकर उनका उत्साह बढ़ाने की भी कोशिश कर रही हैं.

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) जिलेवार समीक्षा बैठकें भी करने वाली हैं. रायबरेली में कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग के बाद प्रियंका गांधी रविवार की देर शाम अमेठी पहुंचीं. अमेठी पहुंचने के बाद पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी लगातार चुनावी तैयारी में जुटी हुई है.

उन्होंने दावा किया कि हमने लगातार चुनावी तैयारी पर फोकस किया है और पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ लगातार मीटिंग्स की हैं. बीजेपी की ओर से लगातार कांग्रेस पर हो रहे हमलों को लेकर पूछे गए सवाल पर प्रियंका गांधी ने पलटवार किया. प्रियंका ने कहा कि यह तो वक्त ही बताएगा कि किसका अस्तित्व है और किसका नहीं.

अमेठी के आकस्मिक दौरे पर पहुंचीं प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पूरे 22 महीने के बाद अमेठी के आकस्मिक दौरे पर रविवार देर शाम पहुंची. उन्होंने यहां मोहनगंज के टोडर गांव में उस परिवार से मुलाकात किया जहां 6 दिन पूर्व कच्ची दीवार गिर जाने से तीन मासूमों की मौत हो गई थी. प्रियंका ने परिवार वालों को सांत्वना देते हुए कहा कि वो परिवार के साथ खड़ी हैं, जो भी मदद होगी उसे करेंगे.

बता दें कि 6 सितंबर को मोहनगंज थाना क्षेत्र के टोडरपुर मजरे जमुरवां गांव में बारिश के चलते कच्चे मकान की दीवार ढह गई थी. पास में ही खेल रहे बच्चे इसकी चपेट में आ गए थे. जिसमें वंश (8) पुत्र श्यामलाल, दिव्यांशु (6) पुत्री राजेश, सत्यम (10) पुत्र शिवराज, आशीष (10) पुत्र श्यामलाल, शिवा (10) पुत्र राम बाबू मलबे में दब गए. जिसमें तीन मासमों की जान चली गई थी.

प्रियंका गांधी ने रविवार को रायबरेली के जिलाध्यक्ष और कमेटी और शहर अध्यक्ष कमेटी के साथ बैठक की. बैठक में प्रियंका ने कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते हुए साफ किया कि पार्टी के लिए नहीं देश के लिए चुनाव लड़ें. साथ ही राज्य सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि सरकरा को न जनता के मुद्दों की समझ है और न ही उनसे कोई सरोकार है, बस झूठे विज्ञापन और हवाई दावों की सरकार है.

प्रियंका ने कहा कि सिर्फ पार्टी के लिए ही नहीं, बल्कि राष्ट्र निर्माण के लिए भी मजबूत संगठन जरूरी है. यूपी विधानसभा चुनाव एकदम नजदीक है, इसलिए कांग्रेस कार्यकर्ता दिन-रात कार्य करके संगठन को मजबूत करें. आम लोगों के दुख-दर्द के साझीदार बनें. सांगठनिक कामकाज की लगातार दूसरे दिन समीक्षा के दौरान प्रियंका ने फिर दोहराया कि उम्मीदवारों के नाम तय करने की प्रक्रिया में संगठन के पदाधिकारियों की भूमिका नजरअंदाज नहीं होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here