Akhilesh Yadav Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश में आखिरी चरण का चुनाव बचा हुआ है. 7 मार्च को आखिरी चरण के लिए मतदान होगा और 10 मार्च को चुनावी नतीजे आएंगे. उत्तर प्रदेश का चुनाव परिणाम किसके पक्ष में आएगा यह तो अभी नहीं बताया जा सकता, लेकिन तमाम राजनीतिक दल चुनावी जीत को लेकर अपने-अपने दावे कर रहे हैं.

इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने एक चुनावी सभा के दौरान एक पत्रकार के सवालों का जवाब दिया. पत्रकार ने अखिलेश यादव से पूछा कि, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने अपने खिलाफ जितने भी मुकदमे थे उसको वापस ले लिया था क्या अब वापस आएंगे तो वह मुकदमे फिर चालू होंगे?

पत्रकार के सवालों का जवाब देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि मुकदमे वापस लेने का काम कोर्ट का होता है और जहां तक मुझे जानकारी है बहुत से केस अभी ऐसे हैं जो अभी भी कोर्ट में है वह पूरी तरीके से वापस नहीं हुए हैं अगर मेरी सरकार आती है और जनता में से कोई दरखास्त देता है तो उन मुकदमों को फिर से खोला जाएगा.

अखिलेश यादव ने कहा कि यह बाबा मुख्यमंत्री पहले ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने ना सिर्फ अपने ऊपर के मुकदमे वापस नहीं लिए बल्कि डिप्टी सीएम के ऊपर जो मुकदमे थे उसे भी वापस ले लिया. अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार तो वापस ले सकती है लेकिन अंततोगत्वा कोर्ट देखेगा और मुझे नहीं लगता कि कोर्ट इन मुकदमों में क्लीन चिट देगा इन्हें.

अखिलेश यादव की बातों से साफ है कि समाजवादी पार्टी की सरकार आने पर अगर कोई जनता के बीच से इस मुद्दे को उठाता है तो अखिलेश यादव की सरकार फिर से वापस हुए मुकदमों को खोलेगी.

इसके अलावा अखिलेश यादव ने कहा कि जिन पत्रकारों पर बीजेपी सरकार में FIR हुई है, मुकदमे हुए हैं, उनको वापस लिया जाएगा. इसके अलावा अखिलेश यादव ने कानून के मुद्दे पर भी बात की और कहा कि जिन पुलिसवालों ने कुछ गलत किया है, उनके ऊपर कार्यवाही की जाएगी.

अखिलेश यादव ने एक पुलिस वाले का उदाहरण भी दिया, जिसने महिला के साथ गलत संबंध बनाए थे और बाद में वह जेल में है. अखिलेश यादव ने कहा कि उस महिला की लड़ाई हम लोगों ने लड़ी थी. अखिलेश यादव ने कहा कि जिन्हें कानून का पालन नहीं करना है वह हमें वोट ना दें.

अखिलेश यादव ने कहा कि हमारी सरकार में कोई भी आपराधिक पृष्ठभूमि का व्यक्ति नजर नहीं आएगा. अखिलेश यादव ने इस दौरान योगी सरकार पर कई तरह के आरोप लगाए. अखिलेश यादव ने कहा कि योगी सरकार ने जनता को सिर्फ और सिर्फ दुख और तकलीफ दिए हैं.

इसके अलावा अखिलेश यादव ने मेंस्ट्रीम मीडिया पर भी खुलकर बात की. उन्होंने कहा कि मीडिया निष्पक्ष नहीं है. मीडिया उन खबरों को हाईलाइट करता है जिसे बीजेपी चाहती है. मीडिया जरूरी सवालों को नजरअंदाज कर रहा है. इसके पीछे प्रमुख कारण अखिलेश ने मीडिया के लिए जारी किए जा रहे हैं सरकारी बजट को बताया. उन्होंने कहा कि मीडिया को सरकारी बजट से जो पैसा दिया जा रहा है, उससे बीजेपी अपना प्रचार करवा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here