Sai Pallavi

साउथ इंडस्ट्री की मशहूर अभिनेत्री साई पल्लवी (Sai Pallavi) इस वक्त चर्चाओं में हैं. वजह उनका एक बयान है. दरअसल उन्होंने “द कश्मीर फाइल्स” पर बात करते हुए एक बयान दिया है, जिसकी वजह से हंगामा मच गया है. साई पल्लवी ने रिसेंटली एक इंटरव्यू में “द कश्मीर फाइल्स” पर बात करते हुए पंडितों पर दिखाए गए अत्याचार की तुलना मॉब लिंचिंग से कर दी है.

उनके इस बयान के बाद ट्विटर पर लोगों ने उनको जमकर खरी-खोटी सुनाई. कुछ लोग साईं (Sai Pallavi) के सपोर्ट में उतरे तो कुछ लोग उन पर ही घिनौनी टिप्पणी शुरू कर दी. एक युटुब चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि “द कश्मीर फाइल्स” फिल्म में दिखाया गया है कि कश्मीरी पंडितों की किस तरह हत्या की गई.

उन्होंने आगे कहा कि, वहीं कुछ समय पहले गाय ले जाने वाले मुस्लिम शख्स को बड़ी बेरहमी से पीटकर उसे “जय श्रीराम” के नारे लगाने को कहा गया, यह भी धर्म के नाम पर हिंसा ही है. इन दोनों घटनाओं में क्या अंतर है? अपने इस बयान के बाद वह बजरंग दल के भी निशाने पर आ गई है. हाल ही में बजरंग दल ने साउथ अभिनेत्री के खिलाफ मुकदमा दायर किया है.

साईं पल्लवी (Sai Pallavi) ने कहा कि “द कश्मीर फाइल्स” में दिखाया गया है कि कैसे उस समय कश्मीरी पंडितों को मार दिया गया था. यदि आप इस मुद्दे को एक धार्मिक संघर्ष के रूप में ले रहे हैं तो हाल ही में एक उदाहरण है, जहां एक मुस्लिम पर हमला किया गया था, जब वह गायों को ले जाने वाला वाहन चला रहा था और लोगों ने “जय श्री राम” का जाप किया. तो फिर क्या हुआ और अब क्या हो रहा है? इस में अंतर क्या है इस बयान ने सोशल मीडिया पर बवाल मचा दिया है.

साईं पल्लवी (Sai Pallavi) के इस बयान पर बजरंग दल भाग्यनगर की ओर से हैदराबाद में अभिनेत्री के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है. उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर अपना कंप्लेंट लेटर साझा करते हुए लिखा कि, बजरंग दल विद्या नगर जिला संयोजक अखिल सैंडोली जी और बालोपासना केंद्र प्रमुख अभिषेक वर्मा ने सुल्तान बाजार पीएस में साईं के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

अभिनेत्री द्वारा की गई टिप्पणी के लिए उन्होंने पूरे देश, स्पेशली कश्मीरी हिंदुओं से माफी मांगने की मांग की है. उन्होंने यह भी कहा है कि अगर वह ऐसा नहीं कर पाई तो आगे हालात और खराब होंगे. अब देखना यह है कि अभिनेत्री की तरफ से इस पर क्या प्रतिक्रिया आती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here