Bhojpuri film industry

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री (Bhojpuri film industry) इस वक्त देश की तेजी से बढ़ रही इंडस्ट्री है. रीजनल सिनेमा (Regional cinema) में भोजपुरी फिल्में साउथ की फिल्मों से भी कहीं ज्यादा चल जाती है. यही वजह है कि भोजपुरी फिल्में ना सिर्फ भारत बल्कि विदेशों में भी डब करके दिखाई जाती है. जबकि इन फिल्मों का बजट बॉलीवुड और साउथ की फिल्मों के मुकाबले काफी कम होता है.

कम बजट के चलते ज्यादातर भोजपुरी फिल्में किसी छोटे शहर या फिर बड़े से घर में ही सूट कर दी जाती है. लेकिन इन फिल्मों की शूटिंग में सबसे ज्यादा दिक्कत तब होती है जब इन फिल्मों में कई रोमांटिक सीन फिल्माए जाने होते हैं. अगर किसी घर के अंदर रोमांटिक सीन शूट करना हो तो फिर भी ठीक है. लेकिन जब कई बार छोटी-छोटी जगहों पर ऐसी फिल्मों के सीन शूट किए जाते हैं तो अक्सर वहां पर भीड़ लग जाती है. इस वजह से रोमांटिक और लव मेकिंग सीन शूट करने में भोजपुरी अभिनेत्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है.

मुसीबत तब और बढ़ जाती है जब अनजान लोगों के सामने किसी लव मेकिंग सीन की शूटिंग करते वक्त बार-बार उन्हें रिटेक करना पड़ता है. ऐसे में कई बार वहां मौजूद भीड़ के लोग अभिनेत्रियों पर भद्दे कमेंट मारने लग जाते हैं. डायरेक्टर रोमांटिक सीन के हिसाब से लोकेशन डिसाइड करता है कि रोमांटिक सीन बंद कमरे में करना है या फिर बाहर किसी खुली जगह पर करना है.

डायरेक्टर के डिसाइड करने के बाद अभिनेता और अभिनेत्री को बताया जाता है कि उन्हें बेड पर किस तरह से रोमांस करना है. कमरे में होने वाले रोमांटिक सीन के समय डायरेक्टर, कैमरामैन, कोरियोग्राफर मेकअप मैन आदि लोग मौजूद रहते हैं. फिल्मों में दिखाए जाने वाले रोमांटिक सीन देखकर यही लगता है कि रोमांस करते वक्त सिर्फ अभिनेता और अभिनेत्री ही मौजूद रहते हैं. लेकिन अभिनेता और अभिनेत्री को रोमांटिक सीन पूरी टीम के सामने करने पड़ते हैं.

आपको बता दें कि भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री का गौरवमई इतिहास रहा है. कम संसाधन के बावजूद भोजपुरी में कई बेहतरीन फिल्में बनी हैं. “गंगा मैया तोहे पियरी चढ़ाइबो”, “नदिया के पार”, “दूल्हा गंगा पार के” जैसी साफ-सुथरी फिल्में इसकी मिसाल हैं. वर्तमान में भोजपुरी फिल्म उद्योग करीब 2000 करोड रुपए का हो गया है. अमिताभ बच्चन जैसे महान नायक भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में काम कर चुके हैं.

इस समय भोजपुरी फिल्मों के अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को भोजपुरी बेल्ट के बाहर भी मान्यता मिल रही है. हिंदी फिल्म उद्योग में भी उन्हें रोल मिल रहे हैं. टेलीविजन पर भी उन्हें काम मिल रहा है. मनोज तिवारी, रवि किशन, पवन सिंह, खेसारी लाल यादव, अक्षरा सिंह, संभावना सेठ आदि भोजपुरी कलाकारों ने अपना लोहा मनवाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here