Flight 914

21वीं सदी में भी दुनिया में अनोखे और रहस्यमयी क़िस्सों की भरमार है. ये पूरी दुनिया रहस्यों से भरी हुई है. दुनियाभर में आज भी कई ऐसे रहस्य हैं जिनकी गुत्थी अब तक सुलझ नहीं पाई है. इसी कड़ी में आज हम आपको एक ऐसे रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं, जिस पर विश्वास करना नामुमकिन सा है.

इस रहस्य ने दुनिया के बड़े-बड़े वैज्ञानिकों को भी सकते में डाल दिया था. आज से क़रीब 66 साल पहले सन 1955 में भी एक ऐसे ही रहस्य ने लोगों को हैरान कर दिया था. आज हम आपको अमेरिका के एक ऐसे रहस्यमयी विमान के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने उड़ान भरने के क़रीब 30 साल बाद दूसरे देश में लैंड किया और लैंड करने के कुछ समय बाद ये फिर से ग़ायब हो गया था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, 2 जुलाई 1955 को अमेरिका के न्यूयॉर्क से मयामी के लिए “Flight 914” ने उड़ान भरी थी. इस विमान में कुल 57 यात्री और 6 क्रू मेंबर्स सवार थे. लेकिन ये न्यूयॉर्क से मयामी पहुंचने के बजाय आसमान से ही ग़ायब हो गया. अमेरिका ने उस समय इसे खोजने के कई प्रयास किए, लेकिन इसका कहीं कोई सुराग नहीं मिला.

जानकारी दे दें कि, वर्तमान में विमान के ज़रिये न्यूयॉर्क से मयामी पहुंचने में क़रीब साढ़े तीन घंटे का समय लगता है. अगर 1955 की बात करें तो तब न्यूयॉर्क से मयामी विमान से अधिकतम 5 घंटे में पहुंचा जा सकता था. दुनिया उस वक़्त दुविधा में पड़ गई जब 1955 में ग़ायब हुआ “Flight 914” पूरे 30 साल बाद 9 मार्च 1985 को रहस्यमयी तरीके से वेनेजुएला के कारकास एयरपोर्ट पर लैंड हुआ.

इस दौरान हैरान करने वाली बात ये थी कि एयर ट्रैफ़िक कंट्रोल को इस विमान के बारे में कोई पूर्व सूचना नहीं थी. लेकिन लैंडिंग के कुछ ही देर बाद इस विमान ने एक बार फिर उड़ान भरी और आसमान में फिर से लापता हो गया. बताया जाता है कि काराकास एयरपोर्ट पर उतरने के बाद पायलट ने वहां मौजूद स्टाफ़ से पूछा कि ये कौन सा साल चल रहा है?

जब ग्राउंड स्टाफ़ ने बताया कि ये 1985 है, तब विमान के चालक गंभीर रूप से सांस लेने लगे और बोले ‘ओह! माई गॉड’. इसके बाद विमान ने फिर से आसमान में उड़ान भर ली. हालांकि, इस रहस्य में कितना सच है और कितना झूठ इस बारे में कहना काफ़ी मुश्किल है. लेकिन 9 मार्च 1985 के बाद से इस विमान के बारे में कोई जानकारी नहीं है. अमेरिका आज भी इस लापता विमान की खोज में लगा हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here