Afreen Fatima

देश के कई शहरों में शुक्रवार को नूपुर शर्मा के विवादित बयान को लेकर विरोध प्रदर्शन हुए थे और इसमें हिंसा भी हुई थी. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में भी हिंसा हुई थी. प्रयागराज पुलिस ने शहर में हिंसा के मामले में जावेद मोहम्मद को मुख्य आरोपी बनाया है. सोशल मीडिया पर जावेद मोहम्मद की बेटी आफरीन फातिमा के कई वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिनकी चर्चा चारों ओर हो रही है.

आफरीन फातिमा प्रयागराज में हिंसा में मुख्य आरोपी जावेद मोहम्मद की बड़ी बेटी हैं और उन्होंने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और जेएनयू से शिक्षा हासिल की है. इसके साथ ही आफरीन फातिमा को सरजील इमाम का करीबी भी बताया जाता है. आफरीन फातिमा सीए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले चुकी हैं.

आफरीन फातिमा ने जेएनयू के भाषा विज्ञान केंद्र में m.a. किया हुआ है और उन्होंने वर्ष 2021 में यूनिवर्सिटी छोड़ दी थी. जबकि आफरीन ने बीए की पढ़ाई अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से की है. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में वह महिला कॉलेज की अध्यक्ष भी रही और छात्र राजनीति में सक्रिय भी. आफरीन फातिमा कई विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा ले चुकी हैं और केंद्र की मोदी सरकार को मुस्लिम विरोधी भी बता चुकी हैं.

आफरीन फातिमा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें उन्होंने केंद्र सरकार को मुस्लिम विरोधी सरकार कहा है. इस वीडियो में वह कहती हुई सुनाई दे रही है कि सिर्फ मुस्लिम कैंपस में टीयर गैस और रबर बुलेट का इस्तेमाल किया जा रहा है. मुस्लिम विरोधी सरकार के खिलाफ यह लड़ाई छिड़ी हुई है, क्योंकि यह लड़ाई आत्मसम्मान की है.

10 जून 2022 को जब उनके पिता की गिरफ्तारी हुई उसके बाद भी एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि पुलिस उनके पिता को कहां लेकर गई है, इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा कि पुलिस बिना किसी वारंट के, बिना नोटिस के उनके पिता को लेकर गई है और पुलिस ने यह जानकारी भी नहीं दिया कि कहां लेकर जा रहे हैं.

इसके अलावा आपको बता दें कि आफरीन फातिमा ने कहा है कि वह अपने पिता, मां और बहन की सुरक्षा के लिए बेहद चिंतित हैं. प्रयागराज हिंसा के मास्टरमाइंड के तौर पर बताए जा रहे जावेद मोहम्मद के घर पर रविवार को बुलडोजर चला, इसके बाद जेएनयू में देर शाम जावेद की बेटी आफरीन फातिमा के समर्थन में प्रदर्शन हुआ. यह प्रदर्शन छात्र संघ की ओर से किया गया.

आफरीन फातिमा ने एंटी सीएए प्रोटेस्ट में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था. वह हिजाब बैन के दौरान भी काफी मुखर रही हैं. जेएनयू छात्रा ने हिजाब बैन के दौरान साउथ इंडिया के कई शहरों का दौरा किया था और प्रोटेस्ट में हिस्सा लिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here