Hindenburg

साल 2017 में अपनी शुरुआत के बाद से अब तक यह फर्म (Hindenburg) लगभग 16 कंपनियों में कथित गड़बड़ी से संबंधित बड़े खुलासे कर चुकी है. एशिया के सबसे अमीर और दुनिया के चौथे सबसे रईस गौतम अडानी को एक नेगेटिव रिपोर्ट ने तगड़ा घाटा पहुंचाया है. अडानी ग्रुप की लिस्टेड कंपनियों के शेयरों में 24 जनवरी 2023 के बाद ऐसी जोरदार गिरावट आई है कि एक झटके में गौतम अडानी की संपत्ति से करीब $6000000000 साफ हो गए हैं.

हिंडनबर्ग के फाउंडर नाथन एंडरसन है. यूनिवर्सिटी ऑफ कनेक्टीकट से इंटरनेशनल बिजनेस में ग्रैजुएट डिग्री प्राप्त करने वाले एंडरसन ने एक डाटा कंपनी फैक्टसेट रिसर्च सिस्टम इंक से करियर की शुरुआत की थी. यहां उनका काम इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट कंपनियों से संबंधित था.

फिर उन्होंने साल 2017 में अपनी शॉर्ट सेलिंग फार्म हिंडनबर्ग रिसर्च को शुरू किया था. साल 2020 में एंडरसन ने बताया था कि वह बहुत पहले इसराइल में एंबुलेंस चलाया करते थे. उनका कहना है कि भारी दबाव में काम करने में उन्हें मजा आता है.

यह दरअसल एक फॉरेंसिक फाइनेंशियल रिसर्च फर्म है जो इक्विटी, क्रेडिट और डेरिवेटिव्स का विश्लेषण करती है. इस फर्म में किसी भी कंपनी में हो रही गड़बड़ी का पता लगाकर उस पर विस्तृत रिपोर्ट तैयार की जाती है और फिर उसे पब्लिश किया जाता है. इनमें अकाउंटिंग में गड़बड़ी, मैनेजमेंट के स्तर पर खामियां और अनडिस्क्लोज्ड रिलेटेड पार्टी ट्रांजैक्शन जैसे कारकों पर विशेष तौर पर गौर किया जाता है. यह प्रॉफिट कमाने के लिए टारगेट कंपनी के खिलाफ बेट लगाती है.

नाथन एंडरसन हैरी मार्कपोलोस को अपना रोल मॉडल मानते हैं. पिछले साल अमेरिका का एक जूरी ने निकोला के फाउंडर Trevor Milton को निवेशकों को धोखा देने का दोषी करार दिया था. कंपनी को मामले का निपटारा करने के लिए अमेरिका के सिक्योरिटीज और एक्सचेंज कमीशन को 12.5 करोड डॉलर देने पड़े थे. निकोला जून 2020 में लिस्ट हुई थी और इसका वैल्यूएशन कुछ दिन बाद 34 अरब डॉलर पहुंच गया था.

हिंडनबर्ग की साइट पर मौजूद डिटेल्स के मुताबिक इसने 2017 से लेकर अब तक कम से कम 16 कंपनियों में गड़बड़ियां पकड़ी है. पिछले साल जब Elon Musk ने ट्विटर को 4400 करोड़ डॉलर में खरीदने का प्रस्ताव पेश किया था तो इसी फर्म ने इसे शार्ट किया था. क्योंकि उसका मानना था कि अगर Musk इस डील से पीछे हटते हैं तो इसकी वैल्यू फिर से तय होगी. हालांकि फिर जुलाई में एंडरसन ने मस्क के अगेंस्ट ट्विटर में लॉन्ग पोजीशन ले लिया.

आपको बता दें कि इस रिपोर्ट के बाद शेयर बाजार में भूचाल आया हुआ है. गौतम अडानी की कंपनियों के शेयरों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है और यह कब तक जारी रहेगा इस पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here