Sushant Singh Rajput Update

टीवी एक्ट्रेस तुनिशा शर्मा (Tunisha Sharma) की आत्महत्या मामले ने इंडस्ट्री को हिला कर रख दिया है. तुनिशा के सुसाइड ने एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के मामले की याद लोगों को दिला दी है. इस बीच सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड मामले से जुड़ी एक हैरान कर देने वाली डिटेल सामने आई है.

सुशांत (Sushant Singh Rajput Suicide Case) का पोस्टमार्टम कपूर अस्पताल में हुआ था. अब इस अस्पताल के स्टाफ मेंबर ने दावा किया है कि जब एक्टर के शव को अस्पताल लाया गया तो उनके शरीर पर चोट के निशान थे, उन्हें देखकर यह सुसाइड का मामला नहीं लग रहा था.

ANI से बातचीत में स्वरूप शाह नाम के शख्स ने दावा किया है. शाह एक वीडियो में बात करते नजर आ रहे हैं. यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. वीडियो में रूप कुमार शाह कह रहे हैं जब सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput Death) की मौत हुई थी तब हमें कपूर अस्पताल में 5 शव पोस्टमार्टम के लिए मिले थे, इसमें से एक वीआईपी शव था. जब हम पोस्टमार्टम करने के लिए गए तो पता चला कि यह शव सुशांत का था. उनके शरीर पर कई निशान थे. गले पर भी दो-तीन निशान थे.

व्यक्ति ने दावा किया है कि सुशांत की बॉडी देखने में अलग-अलग रही थी. मैं अपने सीनियर के पास गया और मैंने कहा कि यह सुसाइड का मामला नहीं लग रहा है. सुशांत के गले पर जो निशान था वह फंदे से लटकने वाला नहीं लग रहा था. उसे देखकर लग रहा था कि तड़पने छूटने के बाद जैसा मार्क होता है वैसा था.

अब इस दावे के बाद क्या होता है यह देखने वाली बात होगी. लेकिन इस दावे को लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं. इस वक्त देश में कई तरह का संकट छाया हुआ है. महंगाई से लेकर बेरोजगारी तक और विपक्ष सरकार पर हमलावर है. मीडिया नए-नए मुद्दों के माध्यम से जरूरी सवालों को अनदेखा करता रहा है और इसी बीच अब सुशांत सिंह राजपूत के मामले को फिर से उछाला गया है, इसको लेकर भी कई लोग सवाल उठा रहे हैं.

Sushant Singh Rajput Suicide Case

अगर अब व्यक्ति ने दावा किया है तो इस व्यक्ति ने उस वक्त यह खबर मीडिया में आकर क्यों नहीं दी? बयान जारी क्यों नहीं किया और अगर इतना ही यह व्यक्ति ईमानदार हैं तो उस वक्त अगर किसी का दबाव था तो नौकरी छोड़कर जो कुछ गलत हो रहा था, जो कुछ भी छुपाया जा रहा था उसको पूरे देश को बताया क्यों नहीं?

यह व्यक्ति भी सवालों के घेरे में होना चाहिए. लेकिन मीडिया द्वारा इस व्यक्ति के बयान का वीडियो वायरल किया जा रहा है. जबकि इस व्यक्ति की गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई है. जबकि इस व्यक्ति की गिरफ्तारी करके पूछताछ होनी चाहिए और अगर कुछ गलत हुआ है तो उसकी जांच होनी चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here