Aman Chopra

सूत्रों के अनुसार जो जानकारी आ रही है उसके मुताबिक टीवी पत्रकार अमन चोपड़ा (Aman Chopra) को विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने और धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में गिरफ्तार करने के लिए राजस्थान पुलिस यूपी के नोएडा में तलाश कर रही है.

अमन चोपड़ा (Aman Chopra) के खिलाफ एक व्यक्ति द्वारा एफआईआर दर्ज की गई थी, जिसमें आरोप लगाया था कि पत्रकार ने यह दिखाकर झूठा और काल्पनिक विवरण दिया कि, जहांगीरपुरी में अतिक्रमण विरोधी अभियान का बदला लेने के लिए राजस्थान सरकार ने अलवर जिले के राजगढ़ में मंदिर का विध्वंस किया था.

अमन चोपड़ा (Aman Chopra) के खिलाफ कई जगहों पर एफआईआर दर्ज की गई है. पुलिस ने कहा है कि अमन चोपड़ा को राजस्थान हाईकोर्ट से बूंदी और अलवर जिलों में उनके खिलाफ दर्ज दो एफआईआर में उनकी गिरफ्तारी पर रोक की राहत मिली, लेकिन डूंगरपुर जिले में एक स्थानीय अदालत के आदेश के बाद गिरफ्तारी वारंट का सामना करना पड़ रहा है.

सूत्रों के मुताबिक नोएडा में राजस्थान पुलिस ने डेरा डाल दिया है और अमन चोपड़ा (Aman Chopra) का पता लगाने के लिए सभी संभावित स्थानों की तलाशी पुलिस द्वारा ली जा रही है. अमन चोपड़ा के घर भी पुलिस गई थी लेकिन वह वहां नहीं मिला और आवास पर ताला लगा हुआ था.

आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर भी अमन चोपड़ा (Aman Chopra) की गिरफ्तारी की मांग लगातार बढ़ती जा रही है. अमन चोपड़ा पर लंबे समय से भड़काऊ एंकरिंग करने के आरोप लगते रहे हैं. वह दो समुदायों के बीच नफरत को बढ़ावा लगातार देते रहे हैं, ऐसे आरोप भी उन पर लग रहे हैं.

आपको बता दें कि 2023 में राजस्थान के अंदर विधानसभा चुनाव होने हैं. तमाम राजनीतिक दल तो इस चुनाव की तैयारियों में लगे हुए हैं, लेकिन मीडिया का एक बड़ा वर्ग राजस्थान की घटनाओं को लेकर गलत तथ्य जनता के सामने पेश कर रहा है. सोशल मीडिया पर भी इसको लेकर लगातार आवाज उठ रही है और मीडिया के खिलाफ एक्शन की मांग हो रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here