JP Nadda

बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा अक्सर अपने बयानों को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ जाते हैं. बीजेपी अध्यक्ष की तरफ से पिछले दिनों कई ऐसे बयान दिए गए जिसके पीछे कोई तथ्य नहीं था और उन बयानों का खंडन केंद्र सरकार से जुड़े हुए अधिकारियों ने ही पहले किया था. लेकिन उसके बाद भी जेपी नड्डा के द्वारा ऐसे बयान दिए गए.

बीजेपी के प्रचार के सिलसिले में पिछले दिनों बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने एक बयान दिया था जिसका सोशल मीडिया पर काफी मजाक उड़ा था. उन्होंने कहा था कि रूस यूक्रेन युद्ध के दौरान पीएम मोदी ने रूस के राष्ट्रपति और यूक्रेन के राष्ट्रपति को फोन लगाकर रूस और यूक्रेन का युद्ध कुछ देर के लिए रुकवा दिया था और भारतीय छात्रों को युद्ध क्षेत्र से बाहर निकलवाया था. हालांकि इस बात का खंडन भारत सरकार से जुड़े हुए अधिकारियों ने रूस यूक्रेन युद्ध के शुरुआती दिनों में किया था.

भारत सरकार के अधिकारियों द्वारा किए गए खंडन के बावजूद बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने चुनावी रैली में इस तरह का बयान दिया. उसके बाद सोशल मीडिया पर उनकी जमकर खिंचाई सोशल मीडिया यूजर्स ने की. पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा ने इसे लेकर एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि, नाले से गैस बनाई. चाय बनाई. रडार बादलों में छिपाए.. तो वैक्सीन काहे नहीं बना सकते हैं. बना तो वो लेते ही हैं. इसमें कोई शक थोड़े है. सारे वैज्ञानिक जब फूफा की शादी में नाच रहे थे. तभी मौका मिलते ही मोदी जी ने वैक्सीन बना डाली थी और कोरोना को मार भगाया था.

कांग्रेस की तरफ से भी जेपी नड्डा की जमकर खिंचाई की गई. हालांकि इस जेपी नड्डा ने अपने इस बयान पर किसी तरह की माफी नहीं मांगी. जेपी नड्डा ने जो रूस यूक्रेन युद्ध के संबंध में बयान दिया था इस तरह की बातें युद्ध के शुरुआती दिनों में भारतीय मीडिया द्वारा भी चलाई गई थी. उस वक्त भी विपक्षी पार्टियों द्वारा इसे मुद्दा बनाया गया था. हालांकि बाद में भारत सरकार से जुड़े हुए अधिकारियों द्वारा इस बयान का खंडन किया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here